Leopard
File Pic

    मुंबई. गोरेगांव पूर्व (Goregaon East) आरे कॉलोनी (Aarey Colony) में लगातार तेंदुए का हमला (Leopard Attack) बढ़ता जा रहा है। आए दिन आरे कॉलोनी के किसी न किसी यूनिट में तेंदुए का हमला सामने आ रहा है। पिछले हफ्ते 4 साल के रोहित पर तेंदुए ने हमला किया था। रोहित के पिता ने तेंदुए को भगाने में कामयाब हुए। आरे कॉलोनी के रहवासियों में डर का माहौल बन चुका है। लेकिन तेंदुए का हमला जारी है।

    रविवार शाम करीब 8 बजे एक बार फिर आरे कॉलोनी के यूनिट नंबर 3 में सुनील मिश्रा के तबेले में काम करने वाले अरुण यादव के 4 साल के बेटे पर तेंदुए ने हमला कर दिया। तेंदुआ बच्चे को उठाकर ले जा रहा था कि अचानक अरुण की नजर तेंदुआ पर पड़ी। अरुण के चिल्लाने पर आसपास के लोगो ने जोर जोर से चिल्लाने लगे तो तेंदुआ ने बच्चे को छोड़कर भाग गया। अरुण ने बताया कि अगर वह मौके पर नहीं पहुंचते तो आज बहुत बड़ी घटना हो सकती थी। तेंदुए के हमले से 4 साल के बच्चे को शरीर और सिर में गंभीर चोट आई है।

    आरे पुलिस को इसकी जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंचकर उसके माता पिता की मदद से जगेश्वरी के ट्रामा केअर होस्पिटल में भर्ती कराया गया जहां उसके आंख के पास 7 टांके लगाए गए है। इस घटना के बाद आरे में एकबार फिर तेंदुए के हमले का डर सताने लगा है। अरुण यादव और उनके मालिक सुनील मिश्रा का कहना है कि आरे प्रशासन तुरंत इसपर संज्ञान ले अन्यथा अब तेंदुए को इंसानी हमले की आदत पड़ चुकी है। कभी भी बड़ी घटना हो सकती है।