1 लाख से ज्यादा बेटिकट यात्री पकड़ाए, 3.10 करोड़ दंड वसूली

    मुंबई. आम लोगों के लिए शर्तों के साथ लोकल ट्रेन (Local Train) के दरवाजे खोले जाने के बाद बिना टिकट (Without Ticket) यात्रा करने वालों की संख्या भी बढ़ी है। बताया गया कि मात्र  20-21 दिनों में मध्य रेलवे (Central Railway) के मुंबई उपनगरीय डिविजन में बिना टिकट यात्रा के 1 लाख से ज्यादा मामले पकड़े गए हैं। वैध टिकट के बिना यात्रा करने वाले लोगों से दंड के रूप में 3 करोड़ 10 लाख से ज्यादा की दंड (Fine) वसूली की गई है। 

    कोरोनाकाल में मुंबई मंडल पर 1 अप्रैल से 31जुलाई तक उपनगरीय और गैर-उपनगरीय (लंबी दूरी) की ट्रेनों में नियमित टिकट चेकिंग अभियान के दौरान 3 लाख 4 हजार यात्रियों से 15।92 करोड़ का जुर्माना वसूल किया गया था। वैक्सीन की दो डोज ले चुके लोगों को लोकल यात्रा की इजाजत दी गई है। वैसे कोरोना की दूसरी लहर थमने के बाद लोकल में काफी भीड़ होने लगी है। लोकल में बड़ी संख्या में फर्जी आईकार्ड के साथ यात्रा के मामले पकड़े गए हैं।

    बिना मास्क 17,524 पर कार्रवाई

    मध्य रेलवे के सीपीआरओ शिवाजी सुतार के अनुसार, 17 अप्रैल से 31 अगस्त तक टिकट चेकिंग स्टाफ की स्पेशल टीम ने बिना मास्क 17,524 यात्रियों के खिलाफ कार्रवाई कर उनसे 30 लाख रूपए दंड वसूल किया गया है। राज्य सरकार के डिजास्टर मैनेजमेंट का उलंघन कर बिना मास्क यात्रा करने वालों के खिलाफ रेल परिसर में कार्रवाई की जा रही है।