Mumbai AC local trains have began operations on Harbor line too from December 1, there will be 12 services daily
File

    मुंबई : आने वाले वर्षों में मुंबई (Mumbai) लोकल ट्रेन (Local Train)की यात्रा में क्रांतिकारी परिवर्तन देखने को मिलेगा । मेट्रो ट्रेन (Metro Train) की तरह ही सभी लोकल एसी (All Local AC) होंगी। निजी कंपनियों द्वारा बनाई जाने वाली लोकल का डिजाइन अंतरराष्ट्रीय मेट्रो ट्रेनों की टक्कर में होगा। मुंबई रेलवे (Mumbai Railway) को आने वाले समय मे केवल पूरी तरह से वातानुकूलित लोकल ट्रेनें मिलेंगी, जिनका किराया (Fare) मुंबई मेट्रो की तर्ज पर तय किया जाएगा। 

    उल्लेखनीय है कि प्रयोग के तौर पर इस समय सेंट्रल और वेस्टर्न पर एसी लोकल चलाई जा रही है। इनका सिंगल जर्नी टिकट मूल्य मेट्रो के मुकाबले काफी ज्यादा है। बताया गया कि हाल ही में एक उच्च स्तरीय बैठक में इस किराए को कम किए जाने का निर्णय लिया गया। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने  इस मुद्दे के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करने के लिए मंडल रेल अधिकारियों और मुंबई रेलवे विकास निगम  के साथ लंबी बैठक की और कुछ महत्वपूर्ण निर्णय भी लिया।

    तीन महत्वपूर्ण फैसले!

    मौजूदा एसी लोकल का सिंगल ट्रैवल टिकट का किराया मेट्रो के किराए के बराबर लाया जाएगा। सीजन टिकट या मासिक की कीमतों में कोई बदलाव नहीं होगा। दूसरा अहम फैसला यह है कि मुंबई उपनगरीय रेलवे के लिए भविष्य में कोई नई नॉन एसी ट्रेन नहीं खरीदी जाएगी। सभी ट्रेनें फुल एसी होंगी। रेल मंत्री के निर्देशों के अनुसार, सभी ट्रेनों को अंतरराष्ट्रीय मेट्रो मानकों के अनुसार डिजाइन किया जाएगा इनमें निजी कंपनियों की मदद ली जाएगी।

    आएगा क्रांतिकारी परिवर्तन

    यदि ऐसा हुआ तो मुंबई की लाइफलाइन कही जाने वाली लोकल यात्रा में क्रांतिकारी परिवर्तन आएगा। वैसे मुंबई की सेकंड क्लास लोकल यात्रा देश में सबसे सस्ती है, लेकिन मुंबई  एसी लोकल ट्रेन का वर्तमान न्यूनतम किराया 65 रुपए है, जबकि मेट्रो का पहले 3 किमी के लिए मात्र 10 रुपए है।

    एमआरवीसी खरीदेगा 238 एसी लोकल

    रेल मंत्रालय ने एसी लोकल के किराए में कमी करने का निर्देश देते हुए कहा है कि अब मुंबई रेल विकास कॉर्पोरेशन एसी लोकल खरीदेगा। एमयूटीपी 3 और 3A के तहत एमारवीसी 238 पूरी तरह से एसी ट्रेनों की खरीद करेगा। टेंडर प्रक्रिया शुरू होने के बाद पहली नई ट्रेन का निर्माण तीन साल के भीतर होने की उम्मीद है।

    दुर्घटना में होगी कमी

    सभी एसी लोकल बंद दरवाजे की होने की वजह से दुर्घटनाओं में कमी आएगी। आने वाली पीढ़ी के लिए लोकल यात्रा का पैटर्न बदल जाएगा। रेल यात्री परिषद के अध्यक्ष सुभाष गुप्ता के अनुसार, इस अहम फैसले का स्वागत होना चाहिए। यह प्रयोग  सफल होता है, तो लोकल ट्रेनें मेट्रो को चुनौती देंगी। हालांकि मुंबई के कुछ रेलवे अधिकारियों का कहना है कि फिलहाल पूरी तरह एसी लोकल चलाना संभव नहीं है। रेल मंत्री के साथ बैठक में यात्रियों की सुरक्षा और यात्रियों को भीड़ वाली लोकल ट्रेनों से गिरने से रोकने के लिए चर्चा की गई। जिसके लिए दरवाजे बंद करना और एसी लोकल को लेकर चर्चा हुई है। यदि एसी लोकल ट्रेनों के किराए को मेट्रो के स्तर पर लाया जाता है, तो नई मेट्रो ट्रेनों को कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ेगा। इसके पहले मुंबई लोकल एसी और नॉन एसी दोनों रेक के साथ चलाने पर चर्चा हो चुकी है।

    कब तक आएगी एसी लोकल  

    मुंबई रेलवे विकास निगम वैश्विक निविदाएं जारी करेगा और 2024 तक शहर में ज्यादा एसी लोकल शुरू करने का लक्ष्य है। बताया गया कि मौजूदा लोकल ट्रेनें भी शुरू रहेंगी, लेकिन चरणबद्ध तरीके से जैसे-जैसे पुरानी होंगी, इन्हें अन्य जोनल रेलवे को भेजा जाएगा या स्क्रैप कर दिया जाएगा।