Registration of houses in Mumbai increased by 53 percent in the year 2021
File

    नई दिल्‍ली. एक बड़ी खबर के अनुसार अब मुंबई (Mumbai) में रहने वालों के लिए एक बड़ी ही रहत भरी सुचना है। जी हाँ अब मुंबई में 500 वर्ग फुट के घर पर आपको प्रॉपर्टी टैक्स (Property Tax) नहीं देना होगा। जी हाँ, बीती 12 जनवरी को महाराष्ट्र कैबिनेट ने मुंबई में 500 वर्ग फुट तक के घरों पर प्रॉपर्टी टैक्स माफ करने के बड़े फैसले को अपनी मंजूरी दे दी है। 

    गौरतलब है  कि इसके पहले ठाकरे सरकार ने नए साल के मौके पर 1 जनवरी को ये एलान किया था कि 500 स्क्वायर फुट वाले घरों का प्रॉपर्टी टैक्स माफ किया जाएगा। इसकी सबसे पहले घोषणा 2017 के BMC चुनाव के समय की गई थी और तब शिवसेना ने लोगों से यह वादा किया था कि अगर फिर से वह चुनाव जीते तो 500 स्क्वायर फुट वाले घरों का प्रॉपर्टी टैक्स भी माफ किया जाएगा।

    ये होगा फैसले का असर

    बता दें कि इस बड़े फैसले से मुंबई शहर में रह रहे लोगों को अब बड़ी राहत मिलेगी और इकोनॉमी सेगमेंट के घरों के मालिकों को सालाना बचत के रूप में ज्यादा फायदा भी होगा। वहीं अब प्रॉपर्टी टैक्स माफ होने से रियल एस्टेट सेक्टर में घरों की खरीदारी में भी व्यापक तेजी आएगी और लोग मुंबई में घर खरीदने के लिए उत्सुक भी होंगे। खासकर मिडिल इंकम ग्रुप और लो इंकम ग्रुप के रहने वालों के लिए ये फैसला बहुत ही ज्यादा फायदेमंद का साबित होगा और मुंबई में नए घरों की बिक्री में भी एक तरह से तेजी भी आएगी। 

    समझें इसका आर्थिक गणित 

    वही राज्य कि उद्धव सरकार का अनुमान है कि इससे 16।14 लाख रेसीडेंशियल यूनिट्स को फायदा होगा और इनसे जुड़े करोड़ों लोगों को भी आर्थिक फायदा होगा। हालांकि इस छूट से राज्य सरकारी खजाने को 462 करोड़ रुपये के राजस्व का नुक्सान होगा और बाकी बचे 45 करोड़ रुपये के घाटे को राज्य सरकार पूरा करेगी।

    क्या होगा  राजनीतिक पहलू

    वहीं मुंबई के निगम चुनावों से पहले की गई ये घोषणा सत्ताधारी शिवसेना को भी व्यापक फायदा पहुंचा सकती है और इसीलिए अगले महीने संभावित तौर पर होने वाले BMC के चुनावों से पहले शिवसेना ने इस फैसले को तत्काल प्रभाव से लागू करने का फैसला लिया है। 

    मुंबई में बढ़ी MIG ग्रुप के घरों की सेल

    बता दें कि मुंबई में पिछली 5 तिमाहियों से लगातार मध्य से उच्च श्रेणी (MIG-HIG) के अपार्टमेंट की बिक्री भी लगातार बढती हुई ही दिख रही है। इसे देखते हुए देश की सबसे धनी महानगर पालिका BMC को ये उम्मीद है कि भले ही प्रॉपर्टी टैक्स माफ होने से उसका रेवेन्यू कम होगा लेकिन नए घरों की बिक्री के चलते इसको जल्द ही पूरा भी कर लिया जाएगा।