Mumbai Schools Reopening : Decision on reopening schools in Mumbai will be taken after diwali: Mayor Kishori Pednekar
File

    मुंबई. मुंबई (Mumbai) में कोरोना (Corona) का संक्रमण दिनों दिन बढ़ रहा है। बीएमसी (BMC) ने मुंबईकरों (Mumbaikars) के इलाज की पूरी व्यवस्था की है, हमारी तरफ से की गई सभी मेहनत भले बेकार चली जाए लेकिन मुंबई के नागरिकों को कोरोना से बचाना ही हमारा उद्देश्य है। ऐसा आवाहन महापौर किशोरी पेडणेकर (Mayor Kishori Pednekar) ने किया है।  पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे के मार्गदर्शन में बीएमसी और टार्गेट पब्लिकेशन की तरफ से ‘क्विल द पढाई एप शुरू किया गया। इस अवसर पर वे पत्रकारों से बात कर रहीं थीं। 

     महापौर ने कहा कि मरीजों की संख्या बढ़ रही है जिसको लेकर बीएमसी ने तैयारी की है। मुंबई में 14 हजार बेड थे जिसे बढ़ाकर 25 हजार किया जा रहा है। अभी बहुत बेड खाली पड़े हैं, लेकिन कुछ लोग कह रहे हैं कि हमें यही अस्पताल चाहिए की डिमांड की जा रही है। अपने पसंद के अस्पताल में बेड पाने के लिए फोन करने वालों की संख्या बढ़ रही  हैं। मैं लोगों से कहना चाहती हूं कि जहां भी बेड मिले वहां इलाज करा लें। महापौर ने कहा कि पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष डेथ रेट कम है। टीका लगाने के लिए भी लोग आगे नहीं आ रहे थे। पिछले सप्ताह से लोगों का प्रतिसाद बढ़ा है। 

    तकलीफ से बचने आईडी कार्ड रखें साथ

    रविवार से नाइट कर्फ्यू लग रहा है। जिस इमारत में 5 से अधिक मिल रहे हैं उसे सील किया जा रहा है। भीड़ को रोकने के लिए यह कदम उठाया गया है। लोकल ट्रेनों में भी भीड़ बढ़ रही है इसलिए राज्य सरकार ने काम के घंटों में बदलाव करने के लिए कहा है। महापौर ने कहा  अत्यावश्यक सेवा को छोडकर सभी सेवाएं बंद रहेंगे। इसलिए काम पर जाते और वापस आते समय  अपना आईडी कार्ड साथ रखें नहीं तो तकलीफ हो सकती है।