ONGC पर दर्ज हो गैर इरादतन हत्या का मामला, कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक की मांग

    मुंबई. महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) ने कहा है कि तूफान के अलर्ट के बावजूद ओएनजीसी (ONGC) ने अपने 700 कर्मचारियों को समुद्र में भेज कर बड़ी लापरवाही बरती है। ऐसे में 37 कर्मचारियों की मौत के लिए ओएनजीसी के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर दोषी अधिकारियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए। 

    उन्होंने कहा कि सरकार और संबंधित एजेंसियों के अलर्ट (Alert) के बावजूद ओएनजीसी ने तूफान के खतरे को नजरअंदाज कर 700 श्रमिकों की जान को खतरे में डाल दिया। इनमें से एक नौका डूब गई, जिसमें 37 श्रमिकों की मौत हो गई और 40 लापता हो गए। भारतीय नौसेना और तटरक्षक बल ने उन्हें सुरक्षित निकाल लिया है। मलिक ने कहा कि इन सभी घटनाओं के लिए पूरी तरह से ओएनजीसी जिम्मेदार है।

    जिम्मेदार अधिकारीयों को तत्काल निलंबित करो 

    कैबिनेट मंत्री मलिक ने कहा इस मामले की जांच के लिए केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने जांच कमेटी बनाई है, लेकिन इससे कुछ हासिल नहीं होगा। उन्होंने इस घटना के लिए जिम्मेदार अधिकारियों को तत्काल निलंबित करने की मांग की है।