Home Quarantine

    मुंबई: राज्य में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामलों की संख्या बढ़ने के साथ सरकार ने एहतियाती कदम के सिलसिले में सरकार ने कुछ फैसले लेने शुरू कर दिए हैं। राज्य में होम क्वारंटाइन (Home Quarantine) की अवधि अब घटाकर सात दिन कर दी गई है जो पहले 10 दिन थी। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (Rajesh Tope) ने कहा कि सात दिनों के होम क्वारंटाइन के बाद संबंधित व्यक्ति को आरटीपीसीआर टेस्ट (RTPCR Test) से गुजरना होगा। 

    टास्क फ़ोर्स की बैठक में लिए गए निर्णय की जानकारी स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने देते हुए कहा कि पिछले कुछ दिनों से राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है और तीन दिनों में कोरोना वायरस की संख्या दोगुनी हो रही है जो कि यह चिंता का विषय है।

    एंटीजन टेस्टिंग बूथ बनाया जाएगा

    पिछले कुछ दिनों से राज्य में पीड़ितों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। तीन दिनों में कोरोना वायरस की संख्या दोगुनी हो रही है जो कि चिंता की बात है। हालांकि, उनमें से 90 प्रतिशत में लक्षण नहीं होते हैं। शेष 10 प्रतिशत में से 1-2 प्रतिशत अस्पताल में भर्ती हैं। एक मायने में यह एक सकारात्मक बात है। टोपे ने कहा कि एंटीजन परीक्षण पर जोर दिया जाएगा और इसके लिए चौक चौक पर एंटीजन टेस्टिंग बूथ बनाया जाएगा। यदि एंटीजन पॉजिटिव है तो RTPCR परीक्षण की आवश्यकता नहीं है। टोपे ने कहा कि जिन लोगों का टीकाकरण नहीं हुआ है, उनके लिए सख्त कदम उठाने की जरूरत है। राजेश टोपे ने यह भी चेतावनी दी कि जो इस भाषा को समझेंगे वे उसी भाषा में समझायेंगे।

    लॉकडाउन की जरूरत नहीं

    टोपे ने कहा कि आज लॉकडाउन की जरूरत नहीं है, लेकिन मरीजों की संख्या के आधार पर प्रतिबंध लगाया जाएगा। प्रतिबंध तुरंत प्रभावी नहीं होंगे पर उचित समय पर निर्णय लिया जाएगा। मौजूदा नियमों के मुताबिक, सरकारी अस्पतालों में बूस्टर डोज लेनी पड़ती है। हालांकि, निजी अस्पतालों को अपने कर्मचारियों को अपने अस्पतालों में बूस्टर खुराक देने की अनुमति है।