Operation Yatri Suraksha

    मुंबई: पश्चिम रेलवे (Western Railway) के आरपीएफ (RPF) के माध्यम से चलाए जा रहे ‘ऑपरेशन यात्री सुरक्षा’ अभियान (Operation Yatri Suraksha Campaign) का असर दिख रहा है। मात्र दो दिनों में ही मोबाइल फोन (Mobile Phone) और बैग जैसे यात्री सामान चोरी में शामिल सात चोरों को पकड़ा गया है। सीपीआरओ सुमित ठाकुर के अनुसार, आरपीएफ क्राइम प्रिवेंशन एंड डिटेक्शन स्क्वॉड (सीपीडीएस) की टीम ने बोरीवली स्टेशन पर दो अलग-अलग मामलों में दो संदिग्ध मोबाइल चोरों को पकड़ा, जिन्होंने अलग-अलग दिन को 18,000 रुपए से अधिक मूल्‍य के मोबाइल फोन और नकदी की लूटा था। दोनों चोरों को स्टेशन के सीसीटीवी फुटेज की मदद से पकड़ कर जीआरपी बोरीवली को सौंप दिया गया। 

    इसी तरह सीपीडीएस की टीम ने चर्चगेट स्टेशन पर तीन अलग-अलग मामलों में 5 संदिग्ध चोरों को पकड़ने में सफलता पाई।  73,000 रुपए से अधिक मूल्‍य के दो मोबाइल फोन और एक लैपटॉप की चोरी की गई थी। सभी संदिग्धों को सीसीटीवी फुटेज की मदद से पकड़ा गया।

    155 चोर पकड़ाए

    पश्चिम रेलवे के आरपीएफ ने 2022 में अब तक 155 चोरों और लूट के 13 आरोपियों को पकड़ा है। ठाकुर ने बताया कि पश्चिम रेलवे आरपीएफ ने मंडल के सभी प्रमुख स्टेशनों पर एक विशेष अपराध रोकथाम और जांच दस्ता (सीपीडीएस) का गठन किया है जो अपराधियों को पकड़ने के लिए स्रोत की जानकारी एकत्र करके सूझबूझ से कार्य करता है। केवल दो दिनों में ही आरपीएफ सीपीडीएस टीमों ने 5 मामलों में चोरों को पकड़ा।