सिंगर पंकज उधास का 72 की उम्र में निधन, गजल गायकी में बनाई थी अलग पहचान

Loading

मुंबई: बॉलीवुड प्लेबैक सिंगर और जाने माने गजल गायक पंकज उधास का 72 साल की उम्र में निधन हो गया है। इंडियन प्लेबैक सिंगर पंकज उधास की फैमिली की तरफ से स्टेटमेंट जारी कर उनके निधन की जानकारी दी गई है। पंकज उधास के निधन की जानकारी उनकी बेटी नायाब ने सोशल मीडिया पर दी है। पंकज उधास बीते कई दिनों से बीमार चल रहे थे। 26 फरवरी की सुबह 11:00 बजे उन्होंने मुंबई के ब्रिज कैंडी अस्पताल में आखिरी सांस ली।

 

 
 
 
 
 
View this post on Instagram
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Nayaab Udhas (@nayaabudhas)

पंकज उदास का पूरा नाम पंकज उधास चारण है। उनका जन्म 17 में 1951 को गुजरात के राजकोट में हुआ था। राजकोट के जैतपुर में एक जमींदार के परिवार में जन्मे पंकज उधास के पिता का नाम केशु भाई उधास और मां का नाम जीतू बेन उधास है। उधास के बड़े भाई मनहर उधास भी बॉलीवुड के सिंगर हैं। वहीं उनके दूसरे बड़े भाई निर्मल उधास भी प्रसिद्ध गजल गायक रह चुके हैं। तीनों भाई अपनी गायकी के लिए देश भर में पहचाने जाते हैं। पंकज उधास ने भी बॉलीवुड के लिए बेहतरीन जीत गाए हैं लेकिन पंकज उधास को भी उनकी गजल गायकी के लिए ही पहचाना जाता है। काफी समय पहले पंकज उदास का परिवार मुंबई आ गया था पंकज ने मुंबई के सेंट जेवियर कॉलेज में पढ़ाई की। 

पंकज उधास की उपलब्धि
साल 2006 में पंकज उदास को गजल गायकी में सिल्वर जुबली पूरा करने के लिए पद्मश्री से सम्मानित किया गया। पंकज उधास को साल 2005 में उनके गजल एल्बम के लिए भी सम्मानित किया गया। पंकज उधास को देश और दुनिया में उनकी गजल गायकी के लिए ढेरों सम्मान प्राप्त हो चुके हैं। पंकज उधास के गजल एल्बम कि अगर बात करें तो उसमें आहट, मुकर्रर, तरन्नुम, नबील, नायाब, शगुफ्ता, अमन और महफिल जैसे एल्बम बेहद मशहूर हुए। फिल्म नाम के लिए उनकी ‘गजल चिट्ठी आई है’ आज भी लोगों की जुबान पर मौजूद है। पंकज उधास की मखमली आवाज और बेहतरीन गजल की वजह से एक अलग पहचान मिली। 

लोगों के दिलों में रहेंगे पंकज उधास 
पंकज उधास की गजल के शौकीनों की संख्या देश और दुनिया भर में मौजूद है। 72 साल की उम्र में भले ही पंकज उधास ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया हो, लेकिन गजल के माध्यम से वह हमेशा लोगों के दिलों में रहेंगे।