Central Railway's mega block in Mumbai on Sunday, services will remain suspended on these route
File

मुंबई. अत्यावश्यक सेवा में लगे राज्य के सरकारी कर्मचारियों और स्वास्थ्यकर्मियों के साथ मुंबई पोर्ट ट्रस्ट में कार्यरत अत्यावश्यक कर्मचारियों को भी लोकल ट्रेन में यात्रा की इजाजत दिए जाने की मांग की गई है. 

मुख्यमंत्री को पत्र लिखा 

ट्रांसपोर्ट एंड डॉक वर्कर यूनियन मुंबई के महासचिव केसरी पारेख ने इस संबंध में मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है.पारेख का कहना है कि पोर्ट कर्मचारी भी अत्यावश्यक कार्य कर रहे हैं,इसलिए उन्हें भी लोकल में यात्रा की इजाजत दी जाए. अत्यावश्यक कर्मचारियों के लिए सोमवार से शुरू की गई लोकल ट्रेन में अन्य सरकारी विभागों में कार्यरत कर्मचारियों को यात्रा की इजाजत दिए जाने की मांग हो रही है.सांसद अरविंद सावंत ने भी मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर  मांग की है कि राज्य व केंद्र के अन्य विभागों के कर्मचारियों को भी लोकल में यात्रा की परमिशन दी जाय.राज्य सरकार की मांग पर मध्य रेलवे 200 फेरियां और वेस्टर्न रेलवे की तरफ से 162 फेरियों का संचालन किया जा रहा है.

यात्रियों को समस्या भी नहीं होगी

विविध सरकारी व सहकारी बैंक, एमटीएनएल, पोस्ट, मझगांव डॉक,नेवल डॉक, मुंबई पोर्ट ट्रस्ट के कर्मचारियों व पत्रकारों को लोकल में यात्रा की अनुमति दिए जाने की मांग हो रही है.दूसरी तरफ मुंबई से आने-जाने वाली स्पेशल ट्रेनों के यात्रियों को भी लोकल में यात्रा की अनुमति देने की मांग की गई है. इस समय लंबी दूरी की नियमित ट्रेनों की बजाय कुछ स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही हैं. इन ट्रेनों से जाने वाले बड़ी संख्या में यात्री दूर उपनगरों में रहते हैं.ऐसे समय उपनगरों की तरफ से आने वाली लोकल भी खाली आती है.स्पेशल यात्रियों का टिकट देख कर उन्हें यात्रा की अनुमति दिए जाने से रेलवे की आय भी बढ़ेगी और यात्रियों को समस्या भी नहीं होगी.