Ghat Section

    मुंबई: मानसून (Monsoon) के दौरान मध्य रेलवे (Central Railway) के घाट सेक्शन (Ghat Section) में होने वाली समस्याओं से निपटने आवश्यक तैयारी का निर्देश जीएम अनिल कुमार लाहोटी ने दिया है। जीएम (GM) ने कल्याण-लोनावला सेक्शन (Kalyan-Lonavala Section) पर मानसून संबंधी तैयारियों की समीक्षा की। उल्लेखनीय है कि मानसून के दौरान घाट क्षेत्र में ट्रैक पर मिट्टी खिसकने, पहाड़ी से पत्थर गिरने आदि घटनाओं के चलते ट्रेन का आवागमन बाधित होता है।  

    बताया गया कि मध्य रेलवे ने मानसून के दौरान लोकल, मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों के सुचारू संचालन के लिए मानसून तैयारियों को तेज कर दिया है। दक्षिण-पूर्व पर घाट खंड यानी कर्जत-लोनावला खंड और उत्तर-पूर्व यानी कसारा-इगतपुरी खंड पर विशेष जोर दिया जा रहा है। जीएम अनिल कुमार लाहोटी ने कल्याण-लोनावला खंड का निरीक्षण कर सभी तैयारियों को पूरा करने के निर्देश अधिकारियों को दिया।

    संवेदनशील स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे

    किसी अप्रिय घटना को रोकने और उससे निपटने के लिए मध्य रेलवे ने हर साल की तरह बोल्डर गिरने के लिए संवेदनशील स्थानों पर कुल 145 सीसीटीवी कैमरे लगाने की योजना बनाई है। इनमें से 87 सीसीटीवी कैमरे दक्षिण-पूर्व यानी कर्जत-लोनावला खंड में 19 संवेदनशील स्थानों और 58 सीसीटीवी कैमरे उत्तर-पूर्व यानी कसारा-इगतपुरी खंड में 11 संवेदनशील स्थानों पर लगाए जाएंगे। कुशल कर्मचारियों की एक टीम इन सीसीटीवी की चौबीसों घंटे निगरानी करेगी।

    टनल पोर्टल

    घाट सेक्शन में 594 बोल्डर स्कैनिंग और ड्रॉपिंग का काम किया गया है। घाट खंडों में बोल्डर नेटिंग, रॉकफॉल बैरियर और बोल्डर को गिरने से रोकने के लिए टनल पोर्टल का काम भी किया गया है। चौबीसों घंटे कार्यरत मध्य रेलवे नियंत्रण कार्यालय, निरंतर निगरानी के लिए आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ और कर्मचारियों के साथ समन्वय का निर्देश दिया गया है।