TATA

    नयी दिल्ली/मुंबई. जहाँ आज  मुंबई में हुए 26/11 के आतंकी हमलों (26/11 terror attacks in Mumbai) को 13 साल पुरे हो चुके हैं। वहीं उद्योगपति रतन टाटा (industrialist Ratan Tata) ने इसे याद करते हुए इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट शेयर किया है। जिसमें उन्होंने कहा कि इन हमलों की यादें “हमारी ताकत का मुख्य स्रोत बननी चाहिए।” साथ ही रतन टाटा ने मुंबई के ताजमहल पैलेस (Taj Mahal Palace in Mumbai) की एक तस्वीर भी शेयर की और लिखा कि “13 साल पहले जो चोट लगी थी उसकी कभी भी भरपाई नहीं हो सकती है।”

    इसके साथ ही रतन टाटा ने एक बहुत ही भावपूर्ण कैप्शन लिखा और मुंबई में 26/11 के आतंकी हमलों के शहीदों को अपनी विनम्र श्रद्धांजलि दी। रतन टाटा ने आज लिखा, “आज से 13 साल पहले हमने जो चोट खाई थी, उसकी भरपाई कभी नहीं हो सकती। हालांकि, हमें उन हमलों की यादों को जरुर बनाए रखना चाहिए, जो हमें तोड़ने के लिए थे, यही तो हमारी ताकत का स्रोत बनते हैं क्योंकि हम उन लोगों का सम्मान करते हैं जिन्हें हमने इस भयानक हादसे में खो दिया है। ”

     
     
     
     
     
    View this post on Instagram
     
     
     
     
     
     
     
     
     
     
     

    A post shared by Ratan Tata (@ratantata)

    पता हो कि 26 नवंबर, 2008 को मुंबई में भयानक आतंकी हमले हुए। इसमें 166 लोग मारे गए और 300 से अधिक घायल भी हो गए। दरअसल पाकिस्तान के 10 आतंकवादियों ने ओबेरॉय-ट्राइडेंट होटल, ताजमहल पैलेस और टॉवर होटल, एक यहूदी सांस्कृतिक केंद्र – नरीमन पॉइंट पर चबाड हाउस, लियोपोल्ड कैफे और छत्रपति शिवाजी टर्मिनस रेलवे स्टेशन सहित पांच प्रमुख स्थानों पर एक साथ हमला करते हुए लगभग पूरे शहर पर बड़ा और भयंकर हमला किया था।

    इन 10 आतंकवादियों में से 9 तो हमले के दौरान मारे गए। लेकिन मोहम्मद अजमल कसाब ही एकमात्र आतंकी था जिसे जिंदा पकड़ा जा सका। हालाँकि उसे 21 नवंबर 2012 को फांसी दे दी गई थी। पता हो कि कि ताजमहल होटल का निर्माण रतन टाटा के परदादा जमशेदजी टाटा ने ही करवाया था। यह हमारे देश का सबसे प्रमुख होटल है।