Sanjay Kshirsagar left BJP and joined Sharad group
BJP छोड़कर शरद गुट में शामिल हुए संजय क्षीरसागर (फोटो-ट्विटर)

संजय क्षीरसागर ने बीजेपी को छोड़कर शरद पवार गुट का दामन थाम लिया है। डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस के करीबी संजय ने आरोप लगाया है कि पार्टी में उन्हें महत्व नहीं दिया। इसीसे नाराज संजय क्षीरसागर शरद गुट में शामिल हो गए। अब कहा जा रहा है कि संजय के शरद गुट में आने के बाद पार्टी को माढा लोकसभा क्षेत्र में मजबूती मिली

Loading

मुंबई: लोकसभा चुनाव 2024 (Lok Sabha elections 2024) के दौरान महाराष्ट्र (Maharashtra Politics) में भाजपा (BJP) को बड़ा झटका लगा है। दरअसल डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) के करीबी रहे संजय क्षीरसागर (Sanjay Kshirsagar) बुधवार को शरद पवार (Sharad group) की पार्टी में शामिल हो गए। ऐसे में अब माना जाता है कि संजय के शरद गुट में आने के बाद पार्टी को माढा लोकसभा क्षेत्र (Madha Lok Sabha constituency) में मजबूती मिली है।

फडणवीस ने नाराजगी

भाजपा छोड़ने को लेकर फडणवीस के करीबी रहे संजय क्षीरसागर ने आरोप लगाया कि उन्हें पार्टी में नजरअंदाज किया गया। इतना ही नहीं बल्कि भाजपा को छोड़ने का उनका फैसला भावुक करने वाला था। कई दिनों की कोशिश के बाद भी डिप्टी सीएम फडणवीस से मुलाकात नहीं हो पाने से क्षीरसागर नाराज थे।

शरद पवार से दोस्ती

उसके बाद उन्होंने शरद पवार की मौजूदगी में एनसीपी (शरद चंद्र पवार) का दामन थाम लिया। लोकसभा चुनाव के दौरान कई पार्टिओं के नेताओं ने नाराजगी के चलते अपना पक्ष छोड़ा है वही अब इस लिस्ट में संजय क्षीरसागर भी शामिल हो गए हैं।

क्षीरसागर को अफसोस

जानकारी के लिए आपको बता दें कि संजय को महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस का करीबी माना जाता है। ज्ञात हो कि उन्होंने मंगलवार को ही ऐलान कर दिया था कि वो शरद पवार की पार्टी में शामिल होंगे। भाजपा पार्टी को छोड़ते वक्त क्षीरसागर ने इस बात पर अफसोस जताया कि साढ़े सात साल की सत्ता में माहौल में विपरीत परिस्थितियों में काम करने के बाद भी कुछ खास मिल नहीं पाया।

संजय क्षीरसागर का सवाल

इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने कहा कि मैं इस सवाल से परेशान था कि मैंने उन कार्यकर्ताओं को क्या दिया है जो पिछले 26 वर्षों से मेरे पीछे निष्ठापूर्वक खड़े रहे हैं। इसी बीच भावनिक आहत होकर संजय क्षीरसागर भाजपा छोड़ने का फैसला लिया।