school
प्रतीकात्मक तस्वीर

    मुंबई. मुंबई (Mumbai) में 4 अक्टूबर से स्कूल शुरु (Start School) करने पर आखिरकार मुहर लग गई। कोरोना (Corona) के कारण पिछले डेढ़ साल से स्कूल बंद होने के कारण घरों में कैद बच्चों की पीठ पर एक बार फिर बैग देखने को मिलेगा। मुंबई में 31 मार्च 2020 से स्कूल पूरी तरह बंद थे तब से बच्चे घर में बैठ कर ऑनलाइन  पढ़ाई (Online Study) कर रहे थे। बच्चों का कोरोना काल मे खेलना कूदना तक बंद हो गया था अब बच्चे घर के बाहर निकल सकेंगे। 

    स्कूल खुलने  के साथ बीएमसी कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने कोविड कार्य में लगे सभी शिक्षकों को उनके कोविड दायित्व से मुक्त करने का आदेश दिया है।

    महानगरपालिका की 250 इमारतों में चलती है 10वीं की कक्षा

    मुंबई में महानगरपालिका आठ भाषाओं में शिक्षा देने का काम करती है। महानगरपालिका की 250 स्कूलों में 10,420 शिक्षक शिक्षा देने का काम करते है। इन शिक्षकों में लगभग 80 प्रतिशत शिक्षकों का कोरोना वैक्सीन का दोनों डोज  पूरा हो चुका है।

    कोरोना गाइडलाइन का पालन कर खुलेंगे स्कूल

    राज्य सरकार ने कोरोना काल में स्कूल खोलने की दी गई मंजूरी में कोरोना नियमों का पालन करने के लिए गाइडलाइन जारी की है। राज्य सरकार की गाइडलाइन का अनुपालन करते हुए स्कूल में बच्चों को शिक्षा दी जाएगी।

    स्कूल में बने वैक्सीन सेंटर और क्वारंटाइन सेंटर बंद करने का निर्देश

    महानगरपालिका कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने निर्देश दिया है कि जिन स्कूलों में वैक्सीन सेंटर और क्वारंटाइन सेंटर शुरू था उन्हें बंद कर स्कूल बच्चों की  शिक्षा के लिए दुबार से उपयोग करें। स्कूल शुरू होने पर स्कूल के सोडियम हाइपोक्लोराइड से दिन में दो बार छिड़काव कर उसकी साफ सफाई की जाए। शिक्षकों को दूसरे काम से हटाकर शिक्षा के काम में लगाने का निर्देश दिया है।