Signal of Shankara colony feasting on accidents

  • कैमरे और ट्रैफिक पुलिस नदारद
  • डिवाइडर के गैप बना 'यू टर्न स्पॉट
  • फुटओवर ब्रिज पर उपयोग नहीं करते

तारिक खान

मुंबई. गोवंडी हाईवे (Govandi Highway) के घाटकोपर-मानखुर्द लिंक रोड (Ghatkopar-Mankhurd Link Road) के शंकरा कॉलोनी (Shankara Colony) का ट्रैफिक सिग्नल (traffic signal) और डिवाइडर (Dividers) दुर्घटनाओं को दावत दे रहा है और इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो यह कभी भी लोगों के लिए मुश्किलों का सबब बन सकता है। बिना सीसीटीवी कैमरे और ट्रैफिक पुलिस के यह सिग्नल असुरक्षा को भी बढ़ावा दे रहा है, लेकिन फिर भी शासन और प्रशासन ने ध्यान नहीं दिया है जिसकी वजह से यह ट्रैफिक सिग्नल लावारिस हो गया है। इस जगह पर कई राहगीर और वाहन चालक दुर्घटना का शिकार भी हो चुके हैं।

मुंबई (Mumbai) को नवी मुंबई (Navi Mumbai) शहर से जोड़ने वाले हाईवे के घाटकोपर-मानखुर्द लिंक रोड पर लगभग 8 ट्रैफिक सिग्नल हैं। ईस्टर्न फ्री वे भी इस हाइवे से कनेक्ट होता है जिसकी वजह से इस हाईवे पर तेज़ रफ़्तार दोपहिया और थ्री व्हीलर और चार पहिया गाड़ियां हवा से बातें करती है। इस सिग्नल पर प्रशासन ने लोगों के लिए फुटओवर ब्रिज (Footover bridge) भी बनाया है, लेकिन लोग इसका इस्तेमाल नहीं करते है और तेज़ रफ़्तार गाड़ियों के बीच से सड़क पार करते है।

सिग्नल से कैमरे और ट्रैफिक पुलिस नदारद

कानून तोड़ने वालों से सख्ती से निपटने और उन्हें कानून का पालन कड़ाई से कराने लिए इस सिग्नल पर कभी कोई ट्रैफिक पुलिस कॉन्स्टेबल नहीं होता है, जिसकी वजह से दोपहिया और चार पहिया गाड़ियां के चालक बिना किसी की परवाह किए सिग्नल तोड़ कर निकल जाते हैं।

Signal of Shankara colony feasting on accidents

हाईवे का डिवाइडर बना “यू-टर्न स्पॉट”

शंकरा कॉलोनी के सिग्नल का डिवाइडर वाहन चालकों के लिए “यू-टर्न” स्पॉट बन गया था, इसमें जगह मिलने पर वाहन चालक आगे कुछ दूर जाकर सिग्नल से यू-टर्न मारने की बजाए इसी शॉटकट से गाड़ी घुमा लेता है। कई बार इस वजह से दुर्घटना होते-होते भी बची है।

सिग्नल जंप कर मारी टक्कर

गोवंडी इलाके के रहने वाले सैयद जफ़र ने बताया कि एक दिन जब वह शंकरा कॉलोनी की एक जिम से गुजर रहे थे तो सिग्नल बंद होने की वजह से मैं सड़क नीचे से पार कर रहा था क्योंकि उस समय सिग्नल पर फुटओवर ब्रिज का काम चल रहा था। जैसे ही मैंने सड़क पार करने की कोशिश की एक तेज रफ्तार बाइक वाले ने सिग्नल तोड़कर आगे जाते हुए मुझे टक्कर मारी और वहां से वो निकल गया। हालांकि ज्यादा चोट नहीं लगी, लेकिन उस समय भी कोई कैमरा और ट्रैफिक पुलिस कॉन्स्टेबल वहा नहीं था।

इस टूटे हुए डिवाइडर को ठीक करने के लिए प्रशासन से लिखित रूप से मांग करेंगे। हमारे पास पुलिसकर्मियों की संख्या कम है। शिवाजी नगर और बैगनवाड़ी सिग्नल की टूटी सड़कों और नवनिर्माण ब्रिज के काम की वजह से बहुत ट्रैफिक लगा रहता है। सुबह और शाम मुंबई और नवी मुंबई जाने वालों की संख्या अधिक है इसके लिए सभी पुलिसकर्मी ट्रैफिक फ्री करने में व्यस्त रहते हैं। जल्द सिग्नल पर कैमरे लगाया जाएगा और ट्रैफिक पुलिसकर्मी तैनात किए जायेंगे। लोगो को भी खुद जागरूक होने और ट्रैफिक पुलिस को मदद करने की जरूरत है।

-विजय हातिसकर, वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक, मानखुर्द ट्रैफिक