Corona continues to wreak havoc in Mumbai, 120 policemen became corona positive in the city in the last 24 hours, 1 died
Representative Photo

– मरीजों की संख्या दोगुना होने की अवधि बढ़ कर हुई 98 दिन

– हर रोज मिलने वाले औसतन मरीजों की संख्या घटकर हुई 20 

– कोरोना मरीजों के बढ़ने की तीव्रता 0.7 प्रतिशत

मुंबई. धारावी के बाद मुंबई की दूसरी सबसे बड़ी झोपड़पट्टी अंटाप हिल वाला सायन-कोलीवाड़ा इलाका मई महीने में कोरोना का सबसे बड़ा हॉट स्पॉट बन कर उभरा था. मरीजों को अस्पताल में बेड नहीं मिल रहे थे. पूरे इलाके में जगह-जगह बैरिकेडिंग की गयी थी. कड़क लॉकडाउन की वजह से पुलिस के जवानों पर हमले भी किए गए. जिसकी वजह से कोरोना कंट्रोल को लेकर प्रशासन की चिंता बढ़ गई थी, लेकिन संयुक्त प्रयास से इस इलाके न केवल कोरोना कंट्रोल में हुआ है,बल्कि रेड जोन का ठप्पा भी हट गया है. मनपा का एफ उत्तर वार्ड कोरोना के मरीजों की संख्या के मामलों में भले ही अभी भी ग्यारहवें स्थान पर है, लेकिन मरीजों की संख्या दोगुना होने की कालावधि बढ़ कर 98 दिन हो गयी है.मरीजों की संख्या में इजाफा न हो इसके लिए मनपा अधिकारी, जन प्रतिनिधि एवं सामाजिक संस्थाओं से जुड़े व्यक्ति विशेष ध्यान दे रहे हैं.

   मई महीने में  मनपा के एफ उत्तर वार्ड सायन कोलीवाड़ा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र अंतर्गत प्रतीक्षानगर, विजयनगर, इंदिरानगर,मोतीलाल नेहरु नगर, राउली कैंप, कोकरी आगार, संगमनगर, बीएसडी रोड, सीजीएस कालोनी एवं आस पास के इलाकों में कोरोना का प्रभाव तेजी से फैला.एक समय ऐसा भी आया जब लगा कि कोरोना के मामले में यह वार्ड मुंबई के अन्य इलाकों को पीछे छोड़ देगा. लेकिन संयुक्त प्रयास के जरिए सायन कोलीवाड़ा इलाके में कोरोना को काबू करने में सफलता मिली है.       

5172 मरीजों के साथ के-पूर्व वार्ड नंबर वन पर   

मुंबई महानगर पालिका क्षेत्र में अब तक 76 हजार 296 कोरोना के मरीज मिले हैं.जिसमें अंधेरी एवं जोगेश्वरी पूर्व इलाकों में 5172 मरीजों के साथ के-पूर्व वार्ड नंबर वन पर बना हुआ है.धारावी वाला वार्ड जी-उत्तर 4811 मरीजों के साथ दूसरे नंबर पर है, जबकि तीसरे नंबर वाले के-पश्चिम वार्ड में 4421 मरीज हैं. मरीजों के मामले में चौथे नंबर पर पी उत्तर बना हुआ है. इस वार्ड में 4396 मरीज हैं. एस वार्ड 4240 मरीजों के साथ पांचवें नंबर नंबर पर है. एल वार्ड में कोरोना मरीजों की संख्या 4051 है.जबकि सातवें स्थान पर एफ दक्षिण वार्ड है, इस वार्ड में कोरोना पॉजिटिव की संख्या 3916 है. मनपा के एन वार्ड में अब तक 3878 कोरोना मरीज मिले हैं.जी दक्षिण वार्ड में कोरोना के 3645 एवं एच पूर्व वार्ड में अब तक 3458 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं.ग्यारहवें स्थान पर मनपा का एफ उत्तर वार्ड है. इस वार्ड में अब तक 3359 मरीज मिले हैं. इनमें से 2354 मरीज ठीक हुए हैं, जबकि  768 का इलाज अलग-अलग अस्पतालों में किया जा रहा है.सायन कोलीवाड़ा इलाके में कोरोना की वजह से 237 की मौत हुई है.

मरीजों की संख्या लगातार घट रही 

सायन कोलीवाड़ा मिली जुली आबादी वाला क्षेत्र है.केंद्र सरकार से संबंधित कार्यालयों में काम करने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों की सबसे बड़ी सीजीएस कालोनी इसी क्षेत्र में है. एक तरफ जहां ऊंची-ऊंची इमारते हैं तो वहीं मुंबई की दूसरी सबसे बड़ी झोपड़पट्टी भी है. जिसमें मजदूर तबके के लोग बड़ी तादाद में रहते हैं. झोपड़पट्टी की तंग गलियों की वजह से सोशल डिस्टनसिंग का पालन करना मुंबई के दूसरे इलाकों की अपेक्षा मुश्किल लग रहा था.लेकिन केंद्र सरकार की तरफ से मजदूरों सहित अन्य लोगों को उनके गांव जाने की अनुमति मिलने के बाद संगमनगर, इंदिरानगर, महाराष्ट्र नगर,गैबन शाह दरगाह रोड सहित विभिन्न झोपड़पट्टियों में रहने वालों का तेजी से पलायन हुआ. भीड़ कम होने से भी कोरोना के फैलाव में काफी हद तक ब्रेक लगा.अंटापहिल व आस पास के इलाकों में हर रोज मिलने वाले कोरोना मरीजों की संख्या लगातार घट रही है. पिछले 21जून को एफ उत्तर वार्ड में कोरोना पॉजिटिव की संख्या 3190 थी.हर रोज 30 से 15  नए मरीज मिल रहे हैं.जिससे अब यह संख्या 3359 हो गई  है.एफ उत्तर वार्ड में कोरोना मरीजों के बढ़ने का दर 0.7 प्रतिशत है.

 सायन कोलीवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में संयुक्त प्रयास से कोरोना को कंट्रोल करने में सफलता मिली है.इसमें मनपा कर्मियों एवं पुलिस जवानों की भूमिका महत्वपूर्ण है.बीजेपी कार्यकर्ताओं ने अपने अपने इलाकों में अथक प्रयास किया है. वैश्विक महामारी रोकने में सभी का सहयोग मिला है.सभी से अपील है कि इसी तरह का सहयोग कुछ दिन और करते रहें.बगैर मास्क लगाए कोई घर से बाहर नहीं निकले.

– कैप्टन तमिल सेल्वन, विधायक, सायन- कोलीवाड़ा

वैश्विक महामारी रोकने में मनपा प्रशासन विशेषकर वार्ड ऑफिसर, जनप्रतिनिधियों एवं सामाजिक संस्थाओं का संयुक्त प्रयास सफल हुआ है, जिसकी वजह से एफ उत्तर वार्ड में नए मरीज मिलने बहुत कम हो गए हैं, लेकिन खतरा अभी टला नहीं है.लोगों को सोशल एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करना बहुत जरुरी है.यहां यह कहना जरूरी है कि कोरोना कम हुआ है, खत्म नहीं हुआ है इसलिए लोगों को सावधान रहने की जरुरत है. -रवि राजा, नेता विरोधी दल, मुंबई मनपा

हमारे वार्ड के विजयनगर में कोरोना वायरस का संक्रमण सबसे अधिक था.कोरोना को रोकने के लिए सार्वजनिक शौचालयों पर ध्यान केंद्रित किया गया. हर रोज 6 बार शौचालयों का सेनेटाइजेशन करवाना शुरु किया गया एवं गलियों में हर रोज एक बार सेनेटाइजेशन करने का निर्णय लिया गया. मनपा के सहयोग से हर गली में चिकित्सा कैंप रखा गया. अब स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है. वार्ड कोरोना मुक्त हो गया है.   – कृष्णा वेन्नी विनोद रेड्डी, नगरसेविका, वार्ड क्रमांक 174

कोरोना रोकने के लिए वार्ड में संयुक्त प्रयास किया गया. लॉकडाउन का पालन में स्थानीय लोगों ने सहयोग दिया, सभी इमारतों एवं स्लम इलाके में सेनेटाइजेशन का काम किया गया. लोग घरों में रहें, इसके लिए उनके  तक भोजन एवं राशन पहुंचाने की व्यवस्था की गई. इसी का फल है कि हमारे वार्ड में पिछले कुछ दिनों से एक भी नया मामला नहीं आया है.हमारा वार्ड कोरोना शुन्य हो गया है.

-सुफियान नियाज वनू, नगरसेवक, वार्ड क्रमांक 179