Mayor Kishori Pednekar

    मुंबई. राज्य में कोरोना (Corona) की दूसरी लहर (Second Wave) कम हो रही है, राज्य सरकार ने 4 अक्टूबर से स्कूल शुरू (School Reopen)  करने का फैसला किया है। कोरोना नियमों का पालन करते हुए, राज्य में डेढ़ साल बाद स्कूल की घंटी बजेगी। स्कूल शुरु करने के निर्णय पर शनिवार को महापौर किशोरी पेडणेकर (Mayor Kishori Pednekar) ने पत्रकार परिषद में कहा कि मुंबई (Mumbai) में स्कूल शुरू करने से पहले सभी शिक्षकों का टीकाकरण (Vaccination) पूरा किया जाएगा।

    इस अवसर पर बोलते हुए पेडणेकर ने कहा कि युवा युवती दिवस के अवसर पर विशेष टीकाकरण अभियान (Special Campaign) चलाया जा रहा है। इसी तरह शिक्षक दिवस पर शिक्षकों को पहला डोज रहेगा तो पहला और दूसरा रहेगा तो सभी को 84 दिन बाद दूसरा डोज लगाया जाएगा। महापौर ने कहा कि पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने इस तरह अभियान चला कर शिक्षकों को टीकाकरण पूरा करने का निर्देश दिया है।

    मुंबई के स्कूलों पर अभी निर्णय नहीं

    महापौर ने कहा कि यह निर्णय मुख्यमंत्री और कैबिनेट द्वारा राज्य सरकार की स्वास्थ्य टास्क फोर्स टीम, ICMR, WHO के निर्देश से लिया जा रहा है। बीएमसी इस पर अपना अध्ययन करेगी। मुंबई में स्कूल शुरू करने के फैसले के बारे में विस्तृत जानकारी सोमवार से मंगलवार तक दी जाएगी। स्कूल शुरु करने पर समीक्षा करते समय हम गणपति के बाद किए गए परीक्षण का परिणाम  भी देखेंगे।

    सभी शिक्षकों का होगा टीकाकरण

    मुंबई में कक्षा 8 से 10  और उसके बाद कॉलेज शुरू करने जा रहे हैं। महापौर ने कहा कि जहां लोकल से यात्रा कर शिक्षक आसानी से पहुंच सकते हैं हम वहां विशेष टीकाकरण केंद्र लगाएंगे चाहे वर्ली हो या महालक्ष्मी।  एक दिवसीय टीकाकरण अभियान में लगभग 2 से 2.50 हजार टीकाकरण किया जाता है। इसलिए मुंबई के हर विभाग में ऐसा टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा और सभी शिक्षकों का टीकाकरण किया जाएगा। मुंबई में अब तक करीब 70 फीसदी शिक्षकों का टीकाकरण किया जा चुका है।

    डेंजर जोन के कारण नहीं हुआ निर्णय

    मुंबई डेंजर जोन में में होने के कारण स्कूल शुरू नहीं करने का फैसला किया था, लेकिन अब कोरोना मरीजों की संख्या कम हो गई है। तीसरी लहर का डर कम हो गया है। मुंबई आने वाले बाहर के नागरिकों की जांच की जा रही है। हालांकि तीसरी लहर के डर को देखते हुए हम अधिक से अधिक टीकाकरण पर जोर दे रहे हैं।