Manoj Kotak

    मुंबई: चुनावी वर्ष में मुंबई महानगरपालिका (Mumbai Municipal Corporation) के बजट (BMC Budget) में किसी भी तरह का नया टैक्स (New Tax) नहीं लगाया गया है, लेकिन विभिन्न परियोजनाओं को पूरा करने के लिए बीएमसी (BMC) ने अपने रिजर्व फंड से 7,756.40 करोड़ रुपए कर्ज लेगी। बीएमसी कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने महानगरपालिका की स्थायी समिति के समक्ष वर्ष 2022-23 का बजट पेश किया। 45,949.21  करोड़ रुपए के बजट में पुरानी योजनाओं को पूरा करने पर बल दिया गया है।  पिछले वर्ष पेश किए गए 39, 038.83  करोड़ के बजट की अपेक्षा इस साल का बजट 6 ,850 .38 करोड़ यानी 17.70 प्रतिशत अधिक है। महानगरपालिका के बजट में वैश्विक महामारी कोरोना का असर भी देखने को मिला है। 

    वहीं, बीएमसी बजट पर भाजपा सांसद मनोज कोटक (BJP MP Manoj Kotak) ने कहा कि बीएमसी  पिछले 25 वर्षों से आम मुंबईकरों के लिए उचित सड़कें और बुनियादी सुविधाएं ठीक ढंग से उपलब्ध नहीं करा पा रही है। बीएमसी ने इस बजट में  सड़क बनाने  के लिए 2,200 करोड़ रुपए का प्रावधान  किया हैं, ताकि हमेशा की तरह ठेकेदारों की जेबें भरकर पैसा निकाला जा सके और बारिश शुरू होने पर मुंबईकर वापस गड्ढों में  जाएंगे।

    कई परियोजनाएं देवेंद्र फडणवीस के कार्यकाल में की गई थी शुरु

    सांसद मनोज कोटक ने तंज कसते हुए कहा कि 500 वर्ग फुट के घरों के लिए प्रापर्टी टैक्स माफ कर दिया गया। ऐसा ढोल जोर-जोर से पीटा जा रहा  है, लेकिन यह फैसला पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र  फडणवीस के कार्यकाल में लिया गया था। मेट्रो, कोस्टल रोड़ जैसी कई महत्वाकांक्षी परियोजनाएं हैं जो देवेंद्र फडणवीस के कार्यकाल में शुरू की गईं थी, लेकिन  श्रेय लेने के लिए ये लोग आगे आ जाते हैं।