Nana Patole and Devendra Fadnavis

    मुंबई : महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी (Maharashtra Pradesh Congress Committee) के अध्यक्ष (President) नाना पटोले (Nana Patole) ने स्पष्ट किया है कि विधानसभा अध्यक्ष (Speaker of Assembly) पद के लिए चुनाव दिसंबर में होने वाले शीतकालीन सत्र (Winter Session) में होगा और नया अध्यक्ष कांग्रेस पार्टी से ही होगा।

    शुक्रवार को तिलक भवन में पत्रकारों से बात करते हुए पटोले ने कहा कि अब तक हुए अधिवेशन की अवधि कोरोना के कारण कम रखी गई थी। उन्होंने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए चयन प्रक्रिया में तीन दिन लगते हैं, इसलिए विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव अभी तक नहीं हो पाया है। हालांकि, शीतकालीन सत्र में विधानसभा के अध्यक्ष का चुनाव ध्वनि मत से होगा। पटोले ने कहा कि देश भर के सभी राज्यों में वॉइस वोटिंग के तरीके को अपनाए जाते हैं। ऐसे में इसमें कुछ भी गलत नहीं है।  विधानसभा ने अपने नियमों में बदलाव किया है। महाराष्ट्र में भी विधान परिषद के अध्यक्ष का चुनाव इसी तरह से किया जाता है, इसलिए इस पर आपत्ति करने का कोई कारण नहीं है।

    फडणवीस को बोलने का नैतिक अधिकार नहीं  

    अमरावती दंगों में राहुल गांधी के खिलाफ नेता विपक्ष देवेंद्र फडणवीस के आरोपों के बारे में पत्रकारों द्वारा पूछे जाने पर पटोले ने कहा कि इन दंगों में केवल भाजपा विधायक और नेता सक्रिय थे। उन्होंने कहा कि केवल भाजपा नेताओं ने भड़काऊ बयान दिया। इसलिए, विपक्ष के नेता देवेंद्र के लिए अमरावती दंगों को लेकर राहुल गांधी पर हमला करना पूरी तरह से गलत है। पटोले ने कहा कि यह राहुल गांधी को बदनाम करने की कोशिश है और बीजेपी लगातार ऐसी कोशिश पहले भी करती रही है। उन्होंने कहा कि फडणवीस को राहुल गांधी के बारे में बात करने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। पटोले ने कहा कि गांधी परिवार ने देश के लिए बलिदान दिया। ऐसे में बीजेपी को बताना चाहिए कि उन्होंने देश के लिए क्या बलिदान दिया है।