प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

  • दूसरा राउंड भी जल्द

नागपुर. बुधवार से शुरू हुई केंद्रीय प्रवेश प्रक्रिया के माध्यम से 11वीं में प्रवेश का स्पेशल राउंड समाप्त हो गया. स्पेशल राउंड में दूसरे और तीसरे दौर से 7,655 से अधिक छात्रों ने प्रवेश लिया है. 11वीं में अभी भी करीब 29,941 सीटें खाली हैं. इस राउंड के अंत में पॉलिटेक्निक का पहला और आईटीआई का दूसरा दौर समाप्त हो गया है. नतीजतन यह संभावना है कि जिन छात्रों को वांछित ट्रेड नहीं मिला, वे अब 11वीं में प्रवेश लेंगे.

पता चला है कि विशेष दौर में मनोनीत संस्थानों में खाली सीटों को भरा गया है. कैप के माध्यम से आवंटित सीटें इस बार भरी जाती है. हालांकि खाली सीटों ने कॉलेजों में टेंशन बढ़ा दिया है. पिछले वर्ष की तुलना में इस बार विज्ञान के प्रति छात्रों का रुझान बढ़ा है. कैप में एक कॉलेज व 160 सीटें अधिक तैयार की गई हैं. अब कैप में 218 कॉलेज और 59,035 सीटें हैं. यह कैप द्वारा प्रदान किए गए आंकड़ों में ये शामिल नहीं है.

दूसरे दौर में विज्ञान को तरजीह

अब तक 36,916 छात्रों ने कैप में रजिस्ट्रेशन कराया है. जिसमें से 28,934 छात्रों को प्रवेश लिया. स्पेशल राउंड से आवंटित सीटों में से 90 फीसदी सीटें भरी गईं. पिछले साल की तुलना में इस साल साइंस में एडमिशन बढ़े हैं. साइंस के कैप में 27,720 सीटें हैं जिसमें से 19,080 सीटें भरी जा चुकी है. कैप और कोटा जोड़ी जाये तो कुल 16,685 सीटें भरी जा चुकी है जबकि कॉर्मस की 7,600 और आर्टस की 3,281 सीटें भरी हैं. बताया जा रहा है कि प्रवेश के दूसरे स्पेशल राउंड में भी साइंस विषय के लिए प्रवेश बढ़ेंगे.

आर्ट्स कॉलेजों में सीटें खाली 

10वीं के रिजल्ट में करीब 98 फीसदी छात्र प्रथम श्रेणी में पास हुए. अधिकांश की रुचि विज्ञान क्षेत्र में दिख रही है. ऐसे में आर्ट्स संकाय में बड़ी संख्या में सीटें खाली रह सकती है. अंग्रेजी माध्यम से आर्ट्स में प्रवेश करने वालों की संख्या अधिक होने के कारण इस बार कटऑफ बढ़ गई लेकिन दूसरी तरफ मराठी और हिंदी कला की कक्षाओं वाले कॉलेजों में सीटें खाली रहने से उनकी चिंता बढ़ गई है. इसके चलते आर्ट्स जूनियर कॉलेजों ने कक्षाएं बंद करने का फैसला लिया है.

राउंड के अनुसार एडमिशन

राउंड प्रवेश

शुन्य 1,420

पहला    11,657

दूसरा 5,666

तीसरा 2,536

स्पशेल 7,655

रिक्त जागा  29,941