Nagpur AIIMS Staff Protest

Loading

नागपुर. शुक्रवार को एम्स में कर्मचारियों द्वारा अचानक काम बंद किये जाने से अफरातफरी मच गई थी. करीब 4-5 घंटे तक टेक्नीशियन, डेटा एंट्री ऑपरेटर, हाउसकीपिंग, इंजीनियर, अटेडेंट सहित सभी कर्मचारियों ने काम का बहिष्कार किया. इस मामले को एम्स प्रशासन ने गंभीरता से लिया है. पूर्व सूचना दिये बिना किये गये आंदोलन पर नाराजगी व्यक्त की है. इस बीच कर्मचारियों ने बताया कि छुट्टी में की गई कटौती को पूर्ववत करने के संबंध में सोमवार को लिखित आश्वासन मिलने वाला है.

दरअसल, एम्स में 200 से अधिक कर्मचारी ठेकेदारी पद्धति पर कार्य रहे हैं. डेंटर बदलने के बाद कर्मचारियों की वार्षिक छुट्टी में कटौती कर दी गई. इस संबंध में शुक्रवार की सुबह निर्णय हुआ और दोपहर के वक्त काम बंद आंदोलन किया गया.

प्रशासन का कहना है कि इस संबंध में पहले चर्चा की जानी चाहिए थी लेकिन कर्मचारियों ने सीधे काम बंद आंदोलन कर दिया. हालांकि इमरजेंसी सहित अन्य सेवाएं अधिक प्रभावित नहीं हुई.

वहीं कर्मचारियों ने बताया कि काटी गई छुट्टियों को पूर्ववत करने के बाद प्रशासन की ओर से सोमवार को चर्चा करने और लिखित आश्वासन देने की बात कही है. साथ ही मांग पूरी नहीं होने पर आंदोलन की अगली रणनीति तैयार करने के बारे में भी जानकारी दी गई है.