fraud
Representative Photo

    नागपुर. चर्चित अपराधी रंजीत सफेलकर और उसकी गैंग के खिलाफ अब भी पुलिस को शिकायतें मिल रही है. सफेलकर के साथ प्रापर्टी का व्यापार कर कई लोगों को ठगने वाले बिल्डर संजय आनंदराव धापोड़कर (46) के खिलाफ पुलिस ने 1 और मामला दर्ज किया है. नया मामला यशोधरानगर थाने में नंदनवन निवासी संजय रामभाउ मालोकर (48) की शिकायत पर दर्ज किया गया. धापोड़कर के अलावा रिलायन्स लैंड डेवलपर्स के अन्य भागीदारों को भी इस प्रकरण में आरोपी बनाया गया है.

    वर्ष 2008 में धापोड़कर ने मौजा कलमना के खतरा क्र. 116/1 में अपना लेआउट होने की जानकारी दी. ग्राहकों को रानी दुर्गावती चौक के समीप स्थित रिलायन्स लैंड डेवलपर्स के कार्यालय में बुलाकर ड्रॉ पद्धति से प्लॉट जारी किए गए. दिए गए दस्तावेजों के अनुसार मालोकर को 188 नंबर का प्लॉट जारी हुआ. 48,000 रुपये में प्लॉट का सौदा तय हुआ और मालोकर को किस्त की सुविधा दी गई. 3,000 रुपये डेवलपमेंट चार्ज और 1,500 रुपये मोज-माप के लिए गए.

    पैसे लेकर भी नहीं की सेलडीड

    कुल 52,500 रुपये लेने के बाद भी रिलायन्स लैंड डेवलपर्स ने सेल डीड करवाने में टालमटोल शुरू कर दी. प्लॉटधारकों ने जांच पड़ताल शुरू की तो पता चला कि जिस जमीन पर आरोपियों ने लेआउट बनाया थो वो उनके नाम पर नहीं है. आपराधिक षडयंत्र के तहत फर्जी दस्तावेजों के आधार पर प्लॉटधारकों को चूना लगाया गया. मालोकर ने प्रकरण की शिकायत क्राइम ब्रांच से की. यशोधरानगर थाने में विविध धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया. ज्ञात हो कि मई महीने में भी पुलिस ने कामठी निवासी रवि घोड़े की शिकायत पर रंजीत सफेलकर, कालू हाटे, संजय धापोड़कर, गुड्डू उर्फ भास्कर धापोड़कर, राकेश गुप्ता, नीलेश ठाकरे और अन्य लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था. आरोपियों ने रवि की खेत जमीन पर अवैध तरीके से कब्जा जमाया. बाद में उसके फर्जी दस्तावेज बनाकर लेआउट बनाकर प्लॉट बेच दिए.