APMC Nagpur

    • दागियों पर BJP डाल रही डोरे
    • व्यापारियों का दल मिला केदार से

    नागपुर. कृषि उत्पन्न बाजार समिति (एपीएमसी) चुनाव को लेकर उत्साह अब चरम पर पहुंच चुका है. नामों की घोषणा अभी किसी ने नहीं की है लेकिन संभावित उम्मीदवार बाजारों में बैठकों का दौर शुरू कर चुके हैं और अपने-अपने लिए वोट मांग रहे हैं. गुरुवार को व्यापारियों का दल मंत्री सुनील केदार से मिला और उनके समर्थित व्यापारी को टिकट देने की मांग रखी. जानकारों ने बताया कि केदार ने व्यापारी और आढ़तिया वर्ग से नामों को अंतिम रूप दे दिया है. बाकी नामों को वे खुद फाइनल करने वाले हैं. इस बीच गुरुवार को 22 और फार्म खरीदे गए, जबकि अलग-अलग वर्ग में कुल 36 लोगों ने फार्म भरे भी हैं. 

    सूत्रों ने बताया कि सुनील केदार ने अपने पैनल से आढ़तिया वर्ग से अतुल सेनाड और व्यापारी वर्ग से प्रकाश वाधवानी को टिकट देने का निश्चय कर लिया है. सेनाड ने गुरुवार को फार्म भरा, जबकि वाधवानी शुक्रवार को फार्म भरेंगे. व्यापारियों के प्रतिनिधियों को भरोसा दिलाने के बाद फार्म भरे जा रहे हैं. अब कोई बदलाव नहीं होगा. वहीं शिवसेना के दबाव की रणनीति को भी केदार ने एक सिरे से खारिज कर दिया है. वैसे भी शिवसेना जिस पर दांव लगा रही थी उसका कोई वजन बाजार में नहीं था. 

    सुपारी किंग पर आश्रित भाजपा 

    कलमना मार्केट से वर्षों पहले गायब हो चुके और सुपारी के कारोबार में किंग बन चुके व्यापारी पर भाजपा दांव लगाने को देख रही है. अगर ऐेसा होता है कि पार्टी की ही छवि खराब होगी क्योंकि वे खुद घोटाले को मुद्दा बनाकर चुनाव में उतर रही है. बाजार में चर्चा है कि कुछ विधायक कमल से ‘कली’ खिलाने को देख रहे हैं. बीजेपी को व्यापारी वर्ग में कोई दमदार उम्मीदवार नहीं मिल रहा है जिसके कारण वह ऐेसे लोगों पर दांव लगा रही है जो काफी पहले पार्टी छोड़ने तक की घोषणा खुद कर चुके हैं. इसी प्रकार आढ़तिया वर्ग में भी दूसरे पैनल से फाइनल हो चुके नाम पर ही दबाव बनाने का काम कर रही है. उसे अपने पैनल से लड़ने का लालच तक दे रही है. इससे गणित समझ में आ रहा है कि दोनों वर्गों से बीजेपी को कोई भी साफ-सुथरा छवि वाला उम्मीदवार नहीं मिल रहा है. हालांकि यह भी सच्चाई है कि मिर्ची बाजार में पार्टी का एक वरिष्ठ पदाधिकारी है लेकिन उसे पूछा तक नहीं जा रहा है और बाहरी लोगों पर भरोसा जताया जा रहा है. 

    36 लोगों ने भरा फार्म

    गुरुवार को कुल 22 फार्म की बिक्री हुई जिसके बाद फार्म खरीदने वालों की संख्या बढ़कर 121 तक पहुंच गई है. वहीं गुरुवार को फार्म भरने वाले भी काफी लोग आए. कुल 36 लोगों ने अलग-अलग वर्ग से फार्म भरा. आढ़तिया-व्यापारी वर्ग से 5, हमाल वर्ग से 5, सेवा सहकारी क्षेत्र से 11, महिला वर्ग से 3, मगासवर्गीय वर्ग से 1, ग्राम पंचायत के विभिन्न वर्गों में सर्वसाधरण वर्ग में 6, अनुसूचित जाति, जमाति से 2, दुर्बल घटक में 2 फार्म भरे गए.