Sangli milk scandal: Sunil Kedar's meeting with farmer leaders begins

  • सावित्रीबाई फुले जयंती व हिरकणी सत्कार समारोह

नागपुर. पशु संवर्धन मंत्री सुनील केदार ने कहा कि विपरीत परिस्थितियों में समस्त महिला जगत को दिशा देने वाली सावित्रीबाई फुले के बताए मार्ग का अनुसरण करना चाहिए. फुले के विचारों से ही देश का संतुलित विकास संभव है. वे जिला परिषद में आयोजित सावित्रीबाई फुले जयंती व हिरकणी सत्कार समारोह में बोल रहे थे. इस अवसर पर जिप अध्यक्ष रश्मी बर्वे, सीईओ योगेश कुंभेजकर, उपाध्यक्ष सुमित्रा कुंभारे, सभापति उज्ज्वला बोढारे, नेमावली माटे, भारती पाटील, तापेश्वर वैद्य, एडिशनल सीईओ कमलकिशोर फुटाणे, प्रकल्प संचालक विवेक इलमे, प्रमिला जाखलेकर, पंचायत समितियों के सभापति, जिप सदस्य उपस्थित थे.

केदार ने कहा कि मां ही उम्र के 3 से 7 वर्ष तक बच्चों को उत्तम संस्कार में गढ़ती है. सुदृढ़ समाज की संस्कारवान पीढ़ी होना जरूरी है. भारतीय अशिक्षित समाज पर महिला शिक्षा का महत्व बताने वाली देश की पहली शिक्षिका सावित्रीबाई फुले हैं.

इनका हुआ सत्कार

जिप अध्यक्ष बर्वे ने अपील की कि अन्यायग्रस्त महिलाओं को बाहर निकालने के लिए नेतृत्व का उपयोग करें. कार्यक्रम के दौरान सावरा, वाघ, ढवलापुर, मानोरा इन 4 शालाओं को सामग्री वितरण किया गया. गायत्री बिसांद्रे, डॉ. श्रमश्री लेंडे, वनिता खोंडे, प्रगति नारनवरे, एड. मीनल रचाते, मनीषा उघडे, डॉ. सोनाली बाके, सैलजा बाबू, दुर्गा पातूरकर, नीलू आत्राम, माया भोईटे, वैशाली पांडे धुर्वे का उनके उल्लेखनीय कार्यों के लिए सत्कार किया गया. संचालन वैशाली पांडवे धुर्वे और आभार प्रदर्शन काटोलकर ने किया.