Representational Pic
Representational Pic

    नागपुर. भाजपा कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार की तरह राज्य सरकार से भी पेट्रोल-डीजल पर टैक्स कम करने की मांग को लेकर वेरायटी चौक पर आंदोलन किया. आंदोलन का नेतृत्व पूर्व मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले, विधायक प्रवीण दटके ने किया. देश के कई राज्यों ने केंद्र सरकार द्वारा टैक्स कम किये जाने के बाद पेट्रोल और डीजल पर मूल्य वर्धित उत्पाद शुल्क में कमी की है लेकिन महाराष्ट्र में महाविकास आघाड़ी सरकार जनता की परीक्षा ले रही है.

    राज्य सरकार को चाहिए कि वह पेट्रोल-डीजल की कीमत कम करे ताकि जनता को महंगाई से कुछ राहत मिल सके. हालांकि महाविकास आघाड़ी सरकार इसे मानने को तैयार नहीं है. प्रदेश की जनता को पेट्रोल-डीजल 12 से 15 रुपये ज्यादा मिल रहा है. विधायक प्रवीण दटके ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क क्रमशः 5 रुपये और 10 रुपये कम करने के बाद कुछ राज्यों ने पेट्रोल और डीजल पर वैट तुरंत कम कर दिया है.

    अब तक कांग्रेस, राकां और शिवसेना के नेता दाम बढ़ाने की नारेबाजी करते रहे हैं लेकिन वे वैट को कम करने की बात करने को तैयार नहीं हैं. इस आंदोलन में विधायक विकास कुंभारे, विधायक समीर मेघे, जिलाध्यक्ष अरविंद गजभिये, महामंत्री संजय भिंडे, अर्चना डेहण्कर , बाल्या बोरकर, चंदन गोस्वामी, दिलीप चौधरी आदि बड़ी संख्या में मौजूद थे.