Stray Cattle
File Photo

नागपुर. सिटी की सड़कों पर मवेशियों की दादागीरी सी चल रही है. दरअसल मवेशीपालक दूध दूहने के बाद मवेशियों को लावारिस फिरने के लिए छोड़ देते हैं. मनपा का कोंडवाना विभाग पहले कुछ कार्रवाई करता नजर आता था लेकिन काफी दिनों से विभाग सोया पड़ा हुआ है. सभी मुख्य सड़कों पर दिन-रात मवेशियों का जमावड़ा नजर आता है. सड़कों व चौराहों के बीचोबीच भी ये मवेशी कब्जा जमाकर बैठ जाते हैं जिससे दुर्घटना का खतरा बना रहता है.

रात के समय तो इन मवेशियों के कारण ही कई दुर्घटनाएं हो चुकी है जिसमें वाहनचालक गंभीर घायल हुए हैं. दरअसल सिटी के भीतर ही मवेशीपालकों ने अपना धंधा शुरू कर रखा है. उनके पास मवेशियों को बांधकर रखने के लिए जगह ही नहीं हैं. गलियों और सड़कों के किनारे, सार्वजिनक मैदानों और सरकारी जमीनों पर इनका कब्जा है. ये गाय व भैंस से दूध निकालकर फिर उन्हें खुला छोड़ देते हैं. गायें बस्तियों में गलियों में लोगों के घरों में घूम-घूम कर भोजन की तलाश में भटकती हैं.