arrest
File

    नागपुर. लोहमार्ग पुलिस इतवारी ने 23 वर्ष से फरार चल रहे आरोपी का धरदबोचा. आरोपी का नाम शांतिनगर निवासी रवि पंचम जुमनाके बताया गया है. रवि पर वर्ष 1997 में सुरक्षा बल जवान से मारपीट का आरोपी लगा था. ज्ञात हो कि घटना के समय नाबालिग था.

    प्राप्त जानकारी के अनुसार रेलवे सुरक्षा बल द्वारा वर्ष 1997 में रवि को कोयला चोरी करते हुए रंगेहाथ पकड़ा गया था. भागने की कोशिश में रवि ने आरपीएफ जवानों के साथ मारपीट की और चोट पहुंचाई. हालांकि वह भागने में सफल नहीं हो सका. ऐसे में उस पर शासकीय कामकाज में बाधा डालने के आरोप के साथ उसके खिलाफ मामला दर्ज कर कोर्ट में पेश किया गया. कोर्ट से उसे जमानत मिल गई लेकिन इसके बाद से वह किसी भी पेशी पर कोर्ट नहीं पहुंचा. बार-बार नोटिस देने के बाद भी उसकी ओर से कोई जवाब नहीं दिया गया. ऐसे में कोर्ट ने रवि के खिलाफ एनबीडब्ल्यू वारंट जारी कर दिया.

    पहचानना था मुश्किल

    कोर्ट का आदेश मिलते ही इतवारी जीआरपी ने रवि की तलाश शुरू कर दी. हालांकि वह अब भी शांतिनगर इलाके में ही रह रहा था लेकिन घटना के समय वह नाबालिग था. 23 वर्ष बीतने के बाद उसे चेहरे-मोहरे और कद-काठी में काफी बदलाव आ गया था. ऐसे में जीआीपी कर्मियों को उसकी पहचान पुख्ता करने में दिक्कत हो रही थी.

    दूसरी ओर रवि हमेशा अपने ऊपर लगे आरोपों को नकार रहा था. हालांकि कुछ दिनों बाद आरपीएफ की मदद से रवि की पहचान हो गई और उसे गिरफ्तार कर लिया गया. यह कार्रवाई जीआरपी एसपी एम. राजुकमार, अपर पुलिस अधीक्षक वैशाली शिंदे, आरपीएफ के डीएससी चुघ के मार्गदर्शन में एपीआई शेख, विजय सुरवाडे, सुभाष मडावी, धम्मपाल गवई, श्याम निखारे, राहुल नगदाले, करुणा मेश्राम, शेंडे, भोयर के अलावा आरपीएफ के एएसआई मुगीसुद्दीन, इशांत दीक्षित, विवेक कनौजिया, चव्हाण ने की.