CBI Raid
Representational Pic

    नागपुर. दिल्ली और राजस्थान में ‘नीट’ परीक्षा में हुई धांधली को लेकर पूरे देश में हड़कंप मचा हुआ है. अब इसके तार नागपुर के कोचिंग सेंटर से भी जुड़ गए है. बताया जाता है कि सीबीआई दिल्ली की टीमों ने मंगलवार को नागपुर में 2 जगहों पर छापेमारी करके 5 लोगों को गिरफ्तार किया है. कोचिंग सेंटर द्वारा कैंडिडेट को पास करवाने के लिए 50 लाख रुपये लिए जा रहे थे.

    मेडिकल में प्रवेश लेने के लिए छात्रों को नीट की परीक्षा में उत्तीर्ण होना पड़ता है. इसमें स्कोर के हिसाब से मेडिकल कॉलेज में प्रवेश मिलता है. ऐसे में कोचिंग सेंटर के संचालकों द्वारा उम्मीदवारों को पास करवाने के लिए लाखों रुपये की सुपारी ली जा रही थी. इसका पता 3 दिन पहले चला और सीबीआई द्वारा दिल्ली और राजस्थान में छापेमारी की गई.

    जेईई मेन्स के बाद नीट परीक्षा में धांधली होने से पूरे देश में खलबली मच गई है. इस प्रकरण में पहले जयपुर से 8 लोगों की गिरफ्तारी हुई थी. उनसे पूछताछ करने पर नागपुर के आरके और करिअर कोचिंग का नाम सामने आया. दिल्ली सीबीआई के अधिकारी मंगलवार को नागपुर पहुंचे.

    स्थानीय अधिकारियों का सहयोग लेकर दोनों कोचिंग सेंटर में छापा मारा. बताया जाता है कि 5 लोगों को गिरफ्तार करने के साथ मोबाइल, लैपटॉप और बैंक के चेक और दस्तावेज भी जब्त किए गए. नामी मेडिकल कॉलेज में प्रवेश के लिए उम्मीदवारों को 50 लाख रुपये से 1 करोड़ रुपये का डोनेशन देना पड़ता है. ऐसे में कोचिंग सेंटर के संचालकों ने नया खेल रचाया.

    उम्मदीवारों को अच्छे स्कोर के साथ मेडिकल में प्रवेश दिलाने के नाम पर 50 लाख रुपये तक लिए. बोगस उम्मीदवार को परीक्षा में बैठाकर मार्क्स स्कोर किए जाने थे. पहले उम्मीदवार के परिजनों से पोस्ट डेटेड चेक लिया गया. पास होने के बाद ही इसे कैश करवाए जाने की जानकारी दी गई थी. अब सीबीआई पेमेंट करने वालों की भी जांच करने वाली है.