CBSE Board Exams

  • सीबीएसई बोर्ड परीक्षा की तिथि की घोषणा

नागपुर. केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ने गुरुवार की शाम को सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं की तिथि की घोषणा की. 4 मई से शुरू होने वाली परीक्षाएं 10 जून तक चलेगी. इसके साथ ही छात्रों, पालकों सहित शिक्षकों के बीच परीक्षा को लेकर जारी अनिश्चितता भी दूर हो गई है. शिक्षकों का मानना है कि चार महीने बाद परीक्षा लिये जाने से छात्रों को तैयारी करने का पूरा मौका मिल सकेगा. वहीं स्कूलों में प्रैक्टिकल सहित विषयों की प्रैक्टिस कराने के लिए भी पर्याप्त समय मिल सकेगा.

कोरोना संकट की वजह से इस बार स्कूलें शुरू नहीं हो सकी. सीबीएसई स्कूलों ने शुरूआत से ही छात्रों की ऑनलाइन क्लासेस शुरू कर दी थी. परिणाम स्वरुप अब तक 10वीं और 12वीं का 60 फीसदी से अधिक पाठ्यक्रम पूरा भी हो गया है. यही वजह है कि पिछले दिनों सीबीएसई के सचिव ने संकेत दे दिये थे कि बोर्ड परीक्षाओं के बारे में निर्णय ले लिया गया है. राज्य के अनेक हिस्सों में सीबीएसई स्कूलें शुरु हो गई है. जिले में पहले से ही स्कूलें खुल गई है.

अब 4 जनवरी से सिटी के भीतर की भी स्कूलें खुल जाएगी. हालांकि शुरूआत में स्कूल केवल 3 घंटे ही चलने वाली है. इन घंटों में साइंस,मैथ्स और इंग्लिश विषय ही पढ़ाएगे जाएगे. जबकि बाकी विषयों के लिए ऑनलाइन क्लासेस जारी रहेगी. सरकार द्वारा बोर्ड परीक्षा की तिथि की घोषणा के साथ ही अब तक बना ‘सस्पेंस’ भी खत्म हो गया है. अब छात्रों के पास पढ़ाई और रिवजन के लिए पर्याप्त समय है. यदि 2 महीने के भीतर पाठ्यक्रम पूरा हो जाता है तो छात्र विषयों का रिवजन भी कर सकेगे. शिक्षकों का कहना है कि आनलाइन क्लासेस की वजह से छात्रों की लिखने की आदत कुछ कम हुई है. लेकिन अब जब स्कूलें शुरू होगी तो छात्रों को प्रैक्टिस कराने भी अवसर मिल जाहएगा.

सीबीएसई बोर्ड परीक्षा की घोषणा सही वक्त पर की गई है. इससे पालकों व छात्रों के बीच बनी अनिश्चितता भी खत्म हो गई है. छात्रों को पढ़ाई करने का अवसर मिल जाएगा. वहीं शिक्षकों को भी परीक्षा संबंधी तैयारी के लिए समय मिल जाएगा. मई तक कोरोना का प्रभाव भी कम होने से छात्र सुरक्षित माहौल में परीक्षा दे सकेगे.

– नीरु कपई,डायरेक्टर मार्डन स्कूल. 

स्टेट बोर्ड कब करेगा घोषणा

हर वर्ष सीबीएसई से पहले स्टेट बोर्ड 12वीं की परीक्षा ली जाती थी. लेकिन इस बार सरकार का नियोजन ही गड़बड़ा गया है. हालांकि स्कूलें तो शुरू हो गई है, लेकिन अब भी 10वीं व 12वीं का पाठ्यक्रम 50 फीसदी तक भी पूर्ण नहीं हो सका है. इस हालत में नहीं लगता कि स्टेट बोर्ड मई में परीक्षा लेने के लिए तैयार होगा. स्टेट बोर्ड में छात्रों की संख्या अधिक होती हैं. इस वजह से केंद्रों के निर्धारण सहित अन्य तैयारियों के लिए वक्त लगेगा. सरकार को चाहिए कि अभी से तैयारी शुरू कर दें. ताकी तिथियों की घोषणा करने में आसानी हो सके. अब जब सीबीएसई ने घोषणा कर दी है तो स्टेट बोर्ड को भी जल्द से जल्द तिथि की घोषणा करना चाहिए.

– खेमराज कोंडे, विभागीय अध्यक्ष, मराराशिसं.