Congress Hallabol, Nana Patole

Loading

नागपुर. राज्य में अतिवृष्टि व सूखा अकाल से किसानों के हुए नुकसान की भरपायी और अन्य मांगों को लेकर कांग्रेस 11 दिसंबर को विधान भवन में हल्लाबोल करने वाली है. प्रदेशाध्यक्ष ने इसकी तैयारियों को लेकर रविभवन में नागपुर, अमरावती व मराठवाड़ा के विधायकों, जिला व प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक ली. किसानों को सरसकट मुआवजा देने की मुख्य मांग रहेगी. पटोले ने कहा कि किसान आर्थिक संकट में आ गया है.

धान, कपास, गन्ना, सोयाबीन व अन्य फसलों की बीमा रकम अब तक किसानों को नहीं मिली है और यह सरकार इस ओर ध्यान देने को तैयार नहीं है. इस समस्या पर ध्यान केन्द्रित करने के लिए प्रदेश किसान कांग्रेस सेल की 4 से 11 दिसंबर किसान संवाद यात्रा निकलेगी. नंदूरबार से शुरू होकर यह यात्रा धुले, जलगांव, बुलढाणा, अकोला, अमरावती, वर्धा होते हुए 11 दिसंबर को नागपुर पहुंचेगी. पटोले खुद इस मोर्चा का नेतृत्व करेंगे. बैठक में विरोधी पक्षनेता विजय वडेट्टीवार, नितीन राऊत, यशोमती ठाकुर, सतीश चतुर्वेदी, अनीस अहमद, विलास मुत्तेमवार, विकास ठाकरे, प्रशांत धवड़, संजय महाकालकर सहित जिलाध्यक्ष व प्रदेश पदाधिकारी उपस्थित थे.

2 घंटे चली बैठक

2 घंटे चली बैठक में विदर्भ सहित खानदेश, मराठवाड़ा के किसानों को हुए भारी नुकसान के संदर्भ में चर्चा हुई. इसके पूर्व भी नुकसान का अब तक किसानों को मुआवजा नहीं मिला है. यह मुद्दा शीत सत्र में सदन में भी पूरजोर तरीके से उठाया जाएगा. इसके अलावा राज्य में कानून व्यवस्था, मराठा-ओबीसी आरक्षण, फसल बीमा योजना में किसानों के साथ धोखाधड़ी, सितंबर में नागपुर में आई बाढ़ और सरकार द्वारा दी गई टुटपुंजिया मदद के मुद्दे पर सरकार को घेरने का निर्णय लिया गया.

मोर्चा को सफल बनाने के लिए सभी जिलाध्यक्षों को जिम्मेदारी सौंपी गई है. सरकार से राज्य में सरसकट अकाल घोषित कर किसानों को मदद के साथ ही सोयाबीन, कपास, धान खरीदी केन्द्र तत्काल शुरू करने की मांग उठाई जाएगी.