MCOCA

    नागपुर. सेक्स रैकेट चलाने को लेकर दोबारा चर्चा में आए अजनी थाना क्षेत्र के चर्चित अपराधी दत्तू खटिक और उसकी गैंग पर पुलिस ने मोका लगा दिया है. उसके खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज है लेकिन पिछले कुछ समय से दत्तू नशीले पदार्थ की तस्करी और सेक्स रैकेट चला रहा था.

    आोपियों में न्यू कैलाशनगर निवासी विशाल उर्फ दत्तू खटिक अंबादास दाभने (38), अमित ताराचंद लोखंडे (23) सत्यदीप उर्फ निखिल रमेश बांगड़ (23), सिद्धेश्वरनगर, पिपला रोड निवासी सचिन काशीनाथ इंगले (32) और सरोशनीनगर निवासी आकाश उर्फ विक्की दीपकराव भोसले (32) का समावेश है.

    गोंदिया की एक लड़की को दत्तू ने अपने रैकेट में शामिल होने के लिए नागपुर बुलाया था. हाथापाई और छेड़खानी करने की वजह लड़की का ब्वॉयफ्रेंड आगबबूला हो गया. उसने दत्तू के साथ फोन पर गालीगलौज कर धमकाया था. दोनों के बीच हुई बातचीत की ऑडियो क्लिप सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुई और क्राइम ब्रांच काम पर लग गई.

    एक गैंग को गांजे की तस्करी में गिरफ्तार किया गया, जबकि दत्तू को सेक्स रैकेट चलाने के मामले में गिरफ्तार किया गया. इसके बाद पुलिस ने सभी का क्रिमिनल रिकार्ड खंगाला. वर्ष 2001 में भी दत्तू के खिलाफ मोका लगाया गया था. इस मामले में न्यायालय ने उसकी गैंग को सजा सुनाई थी.

    अमित लोखंडे के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज है. दत्तू के खिलाफ 30, सचिन के खिलाफ 8, अमित के खिलाफ 5, जबकि निखिल और विक्की के खिलाफ 2-2 मामले दर्ज है. उनकी आपराधिक गतिविधियों को देखते हुए क्राइम ब्रांच के डीसीपी चिन्मय पंडित ने सामाजिक सुरक्षा विभाग को मोका का प्रस्ताव तैयार करने को कहा. डीआईजी क्राइम नवीनचंद्र रेड्डी ने सभी आरोपियों के खिलाफ मोका लगा दिया.