devendra-fadnvis

Loading

नागपुर. जब तक देश के युवाओं को अपना इतिहास नहीं पता होगा तब तक देश का भविष्य नहीं सुधर सकता. देश का विभाजन एक बड़ी त्रासदी थी. इस पुस्तक से हमें देश पर जुल्म करने वाले आक्रमणकारियों और अंग्रेजों के बारे में बखूबी पता लगता है. यह बात जेसीपीई, पीसीई नागपुर में आयोजित एलटीजेएसएस के चेयरमैन डॉ. सतीश चतुर्वेदी की पुस्तक ट्रांसफर ऑफ पावर के विमोचन अवसर पर डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कही.

उन्होंने अपने उद्बोधन में बताया कि डॉ. चतुर्वेदी ने जिस फील्ड में काम किया उसमें वे हमेशा विद्यार्थी रहे. वे चीजों को अलग ही नजरिए से देखते हैं. वे अभ्यासक से ज्यादा एक लेखक के रूप में ज्यादा सफल रहे हैं. उन्होंने अनेक स्कूल और कॉलेज तैयार किए जिनमें देश का भावी भविष्य शिक्षा ले रहा है. उन्होंने पुस्तक में बताया है कि किस तरह आजादी हमें दी गई. उसके मायने क्या हैं.

आजादी के बाद विभाजन की विभीषिका और बंटवारे के दर्द को इस पुस्तक में अच्छी तरह से समझाया गया है. यह पुस्तक हमें हमारे अतीत की ओर ले जाती है और हमें बहुत कुछ सीखने के लिए मजबूर करती है. कार्यक्रम में सेक्रेटरी आभा चतुर्वेदी, डायरेक्टर अभिजीत देशमुख के साथ बड़ी संख्या में अतिथिगण मौजूद थे.