Fever
Representational Pic

    नागपुर. मौसम में लगातार हो रहे उतार-चढ़ाव के कारण जिला अस्पताल में इन दिनों वायरल फीवर के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। मरीजों की संख्या बढ़ने का आलम यह है कि अगस्त माह की तुलना में ओपीडी दोगुनी हो चुकी है। वहीं लैब में जांच कराने वाले मरीजों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। जांच कराने वालों में अधिकतर मरीज सीवीसी और डेंगू तथा मलेरिया की जांच करा रहे है।

    जिला अस्पताल में इन दिनों पहुंचने वाले अधिकतर मरीज सर्दी, जुखाम, बुखार व खांसी से ग्रसित है। चिकित्सकीय परामर्श के दौरान गए मरीजों को बेहतर इलाज के लिए जांच कराई जा रही है। शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों की छोटी-बड़ी बाजारों चट्टी-चौराहों पर बड़े से लेकर छोटे डाक्टरों के यहां बुखार पीड़ितों की भीड़ उमड़ रही है।

    क्षेत्र में खासकर युवा और बच्चे संक्रामक बीमारी की ज्यादा चपेट में हैं। इससे लोग काफी सहमे हुए हैं। कोरोना की मार झेल चुके लोग सतर्कता भी बरतने लगे हैं। बावजूद इसके क्षेत्रवासी समारोह व भीड़भाड़ इलाके में मास्क लगाना भूल जा रहे हैं। यही कारण है कि संक्रामक बीमारियां काफी तेजी से अपना पांव पसारना शुरू कर दिया है। ऐसी लापरवाही लोगों के लिए घातक साबित हो सकती है।