मंगल कार्यालय के मालिक सहित 4 पर FIR

  • लिफ्ट में फंसने से हुई थी किशोर की मौत

नागपुर. नंदनवन के अनुसया मंगल कार्यालय में विगत 20 नवंबर को एक दर्दनाक हादसा हुआ. कैटरिंग सर्विस में काम कर रहे 16 वर्षीय किशोर का सिर लिफ्ट में फंसने से उसकी मौत हो गई थी. इस मामले में नंदनवन पुलिस ने मंगल कार्यालय के मालिक सहित 4 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. आरोपियों में अनुसया मंगल कार्यालय के संचालक संजय काले, जयश्री काले, मैनेजर हरीश पिल्ले और कैटरिंग ठेकेदार कन्हैया पटेल का समावेश है. मृतक संघर्षनगर, वाठोड़ा निवासी सुजन दिलीप शाहू (16) बताया गया.

सुजन के पिता दिलीप की किराणा दूकान थी लेकिन लॉकडाउन के दौरान उन्हें नुकसान हुआ दूकान बंद हो गई. तब से दोनों बेटे मजदूरी पर काम पर जाते थे. छोटा बेटा सुजन कैटरिंग व्यवसायी कन्हैया पटेल के साथ काम करता था. शनिवार को पटेल ने उसे काम के लिए अनुसया मंगल कार्यालय में बुलाया. यहां अन्य कर्मचारियों के साथ सुजन भी चौथे माले पर भोजन सामग्री पहुंचाने का काम कर रहा था.

नहीं लगाया गया था सेफ्टी डोर

सामान पहुंचाने के लिए मंगलकार्यालय में एक लिफ्ट लगाई गई है लेकिन लिफ्ट में सेफ्टी डोर नहीं था. उसका इस्तेमाल करना खतरनाक हो सकता है यह जानकारी होते हुए भी सामान लिफ्ट से ले जाया जा रहा था. चौथे माले से नीचे उतरते समय सुजन का सिर लिफ्ट के चैनल गेट में फंस गया. गंभीर चोट लगने के कारण उसे उपचार के लिए निजी अस्पताल ले जाया गया लेकिन डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया. पुलिस ने आकस्मिक मृत्यु का मामला दर्ज किया था.

एपीआई अश्विनी काले ने प्रकरण की जांच शुरू की. जिसमें मंगल कार्यालय के संचालकों, मैनेजर और कैटरिंग व्यवसायी की लापरवाही सामने आई. इतना ही नहीं केवल 16 वर्ष उम्र होने के बावजूद सुजन से मजदूरों की तरह काम करवाया जा रहा था. पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ लापरवाही के चलते मृत्यु के लिए जिम्मेदार होने और बाल कानून के तहत मामला दर्ज किया है.