Maharashtra Police Recruitment : 5 people caught copying during police recruitment in Maharashtra, 18,000 people took the exam
प्रतीकात्मक तस्वीर

    नागपुर. ऑटो में सवार महिलाओं के जेवर चोरी करने वाली महिला चोरों की गैंग को क्राइम ब्रांच की टीम ने गिरफ्तार किया. इस गैंग में ऑटो चालक भी शामिल था. पकड़े गए आरोपियों में तारसा रोड, कन्हान निवासी रंजिता विशाल पात्रे (40), पूजा रामचंद्र लोंढे (20), लक्ष्मी अजीत बोड़खे (25) और रामटेकेनगर टोली निवासी रवि देवीलाल हातागड़े (33) का समावेश है. विगत 17 अक्टूबर की शाम बेलदारनगर, नरसाला रोड निवासी मंगला हरिभाऊ शेठे (77) सेलू से एसटी बस में सवार होकर नागपुर आई.

    गणेशपेठ बस स्टैंड पर उतर गयीं. फिर घर जाने के लिए ऑटो में सवार हुईं. ऑटो में 3 महिलाएं पहले से सवार थीं. रास्ते में महिला चोरों ने मंगला के गले से 1 लाख रुपये की सोने की चेन चोरी कर ली. उनकी शिकायत पर गणेशपेठ पुलिस ने मामला दर्ज किया. क्राइम ब्रांच का सेंधमारी विरोधी दस्ता भी जांच में जुट गया. सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने पर रवि के ऑटो का नंबर मिल गया. पुलिस ने सबसे पहले उसे गिरफ्तार किया. 

    2 लाख का माल जब्त 

    पहले तो वह कोई जानकारी होने से इनकार करता रहा लेकिन पुलिसिया हथकंडे अपनाने पर पूरी गैंग की पोल खुल गई और तीनों महिला चोरों को गिरफ्तार किया गया. सोने की चेन, मोबाइल फोन और ऑटो सहित 2 लाख रुपये का माल जब्त किया गया. रवि आरोपी महिलाओं को अलग-अलग स्थानों पर ले जाता था. वहां सवारी के हिसाब से भाड़ा तय कर महिलाओं को बैठाता था. रास्ते में तीनों महिलाएं जेवर चोरी कर लेती थी.

    आरोपियों से और भी मामले उजागर होने की संभावना है. चारों को गणेशपेठ पुलिस के हवाले किया गया है. डीसीपी गजानन राजमाने और एसीपी बी.एन. नलावड़े के मार्गदर्शन में एपीआई मयूर चौरसिया, पीएसआई बलराम झाड़ोकर, कांस्टेबल नरेंद्र ठाकुर, प्रवीण रोड़े, रवि अहिर, कुणाल मसराम, सागर ठाकरे, सुहास शिंगणे और आशीष पाटिल ने कार्रवाई को अंजाम दिया.