Pangolin Poaching: State Tiger Force of Madhya Pradesh got a big success, two accused involved in hunting and illegal trade of rare pangolin arrested
Representative Image (Twitter)

    नागपुर. वन विभाग की टीम कोंढाली शिकार प्रकरण में अभी भी अंधेरे में तीर मार रही है. फॉर्म हाउस के मैनेजर रोशन बापूराव कुडे से किसी प्रकार का सुराग हाथ नहीं लगा है. कुडे की एफसीआर खत्म होने के बाद उसे शुक्रवार को कोर्ट में पेश कर फिर से कस्टडी में लेने का प्रयास किया जाएगा. फार्म हाउस का मालिक युवराज गावंडे फरार है. उसे पकड़ने के लिए मुखबिरों को सक्रिय कर दिया गया है.

    मैनेजर का कहना है कि खेत में पैंगोलिन और खरगोश को देखकर कुछ कुत्ते भौंक रहे थे. कुत्ते उन्हें मारकर खा सकते थे, इसलिए दोनों वन्य प्राणियों की जान बचाने के इरादे से उन्हें फार्म हाउस में रखे ड्रम में रख दिया था. उसका कहना है कि कुछ घंटे पहले ही पैंगोलिन को खेत से लाकर रखा था.

    गौरतलब है कि वन विभाग की टीम ने छापामार कार्रवाई करते हुए फार्म हाउस से भारी मात्रा में हिरण के सिंग और जिंदा पैंगोलिन, खरगोश और हथियार जब्त किए थे. इस मामले में हाईप्रोफाइल लोगों के जुड़े होने की आशंका भी जताई जा रही थी.