GMCH

    नागपुर. शासकीय वैद्यकीय महविद्यालय व अस्पताल में कार्यरत ठेका कर्मचारियों को कम वेतन दिया जा रहा है. पिछले 5-6 वर्षों से कार्यरत कर्मियों को अभी भी सिर्फ 6,000-8,000 रुपये वेतन मिल रहा है.

    कर्मचारियों को नियमानुसार वेतन मिलने की मांग को लेकर भारतीय जनता पार्टी कामगार आघाड़ी तथा अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस की ओर से कामगार आघाड़ी अध्यक्ष भास्कर पराते व पूर्व विदर्भ संयोजक जयसिंह कच्छवाह के नेतृत्व में सहायक कामगार आयुक्त राजदीप धुर्वे को ज्ञापन सौंपा गया. चर्चा के दौरान पराते ने बताया कि मेडिकल में अभिजित इंटीलियन्स सिक्योरिटी एंड लेबर सप्लायर तथा क्रिस्टल कंपनी, स्पिक एंड स्पाइन कंपनी द्वारा ठेकेदारी पर कर्मचारी रखे गये हैं.

    इन कर्मियों को न्यूनतम वेतन एक्ट के तहत वेतन नहीं दिया जा रहा है. साथ ही साप्ताहिक अवकाश भी नहीं दिया जाता. धुर्वे ने इस मामले में मेडिकल के अधिष्ठाता के साथ बैठक कर संपूर्ण जानकारी हासिल करने और कर्मचारियों को न्याय दिलाने का आश्वासन दिया. इस अवसर पर अनिल करोसिया, अक्षय वाल्मीक, रूपेश निमजे, विजय पौनीकर, रजत पराते, अमृत भानुसे, सचिन काटले आदि उपस्थित थे.