File Photo
File Photo

    नागपुर. जिले में 30 नवंबर तक शत-प्रतिशत टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए अभियान चलाया गया था. कर्मचारियों, विशेषकर सरकारी कार्यालयों में प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण कराने का निर्देश दिया गया था. यह भी आदेश दिया गया कि जिन कर्मचारियों का टीकाकरण नहीं होगा उनका वेतन रोक दिया जाएगा. इसके बाद भी जिलाधिकारी कार्यालय के 11 कर्मचारियों ने कोरोना का टीका नहीं लगाया. प्रशासन ने इन कर्मचारियों का वेतन रोक दिया है.

    मेडिकल सर्टिफिकेट जमा करें

    जानकारी के मुताबिक इनमें से 4 कर्मचारियों को हाल ही में कोरोना हुआ था. इसलिए उनका टीकाकरण नहीं हुआ है. अन्य 7 कर्मचारियों को विभिन्न बीमारियां हैं. उन्हें बताया गया था कि उन्हें चिकित्सा कारणों से टीका नहीं लगाया गया. उन्हें एक चिकित्सा प्रमाणपत्र जमा करने का निर्देश दिया गया और 4 अन्य कर्मचारियों ने टीकाकरण कराने की बात कही है. टीकाकरण के बाद उनकी सैलरी होने वाली है.

    सूत्रों ने बताया कि संजय गांधी निराधार योजना विभाग के कर्मचारियों का वेतन भी जानकारी के अभाव में रोक दिया गया है. कोरोना के नये वैरिएंट को लेकर प्रशासन अलर्ट हो गया है. सुरक्षा की दृष्टि से उपाय किए जा रहे हैं. कोरोना पर काबू पाने के लिए टीकाकरण पर जोर दिया जा रहा है. सरकार ने शत-प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य रखा है. कलेक्टर विमला आर ने टीकाकरण नहीं करने वालों का वेतन रोकने का आदेश जारी किया है. कलेक्ट्रेट में कुल 304 कर्मचारी कार्यरत हैं.