File Photo
File Photo

    नागपुर. शुक्रवार को जहां गणेश चतुर्थी होने से लोग गणेश स्थापना में जुटे हुए थे, वहीं पीओपी मूर्तियों को लेकर मनपा के एनडीएस दस्ते की कार्रवाई भी जारी रही. इसी दिन पीओपी की मूर्तियों की अधिक बिक्री होने की संभावना के चलते मनपा के सभी जोन में दस्ते सक्रिय रहे. यही कारण है कि हर जोन में  जांच के दौरान कुल 217 दूकानों पर दस्तक दी गई जहां से 58 पीओपी की मूर्तियां जब्त की गईं.

    उल्लेखनीय है कि महापौर दयाशंकर तिवारी के निर्देशों के बाद आयुक्त ने पीओपी मूर्तियों को लेकर कड़ी कार्रवाई के निर्देश जारी किए थे. गत एक सप्ताह से लगातार हो रही कार्रवाई में अब तक सैकड़ों पीओपी मूर्तियां जब्त की गईं. इसके बावजूद यह सिलसिला जारी रखा गया. एक दिन पहले ही मनपा आयुक्त राधाकृष्णन बी. ने भी दूकानदारों से पीओपी मूर्तियां नहीं बेचने की अपील की थी. इसके बावजूद कुछ दूकानों में पीओपी की मूर्तियां बदस्तूर बेची गईं जिनके खिलाफ कार्रवाई भी सुनिश्चित की गई.

    कई जगह दूकानदारों का विरोध

    जांच के लिए अचानक पहुंचे दस्ते को देख कई दूकानदारों की ओर से इसका जमकर विरोध भी किया गया. दूकानदारों का मानना था कि जांच के नाम पर बेवजह परेशान किया जा रहा है. जांच में अधिकारियों को सहयोग करें या फिर एक दिन के इस समय में दूकानदारी करें? यही समझ में नहीं आ रहा है. कम से कम इस दिन कार्रवाई नहीं होनी चाहिए थी. तमाम परेशानियों के बाद भी जांच को रोका नहीं गया. दूकानदारों का मानना था कि पीओपी की मूर्तियां नहीं मिलने का दूकानों के सामने बोर्ड तक लगाया गया जिससे मनपा प्रशासन को भी इसकी जानकारी मिल सके. किसी दूकान में पीओपी मूर्तियां नहीं मिलने का यदि बोर्ड लगा हो तो वहां पीओपी की मूर्तियां खरीदने ग्राहक क्यों आएगा. जिसे मिट्टी की मूर्ति चाहिए वही ग्राहक उस दूकान में पहुंचेगा. 

    अवैध पंडाल पर गिरी गाज

    शुक्रवार को एक ओर जहां पीओपी की मूर्तियों के खिलाफ अभियान जारी रखा गया, वहीं अवैध रूप से मूर्तियां बेचने के लिए पंडाल लगाए जाने के खिलाफ भी कार्रवाई की गई. पंडाल लगाने से बाजार परिसर में ट्रैफिक जाम की स्थिति बन रही थी जिससे दस्ते ने दूकानदार के खिलाफ कार्रवाई कर न केवल जुर्माना वसूल किया गया, बल्कि पंडाल भी साफ कर दिया. 

    जोन जांच जब्ती जुर्माना

    लक्ष्मीनगर 22 00 14,000

    धरमपेठ 25 03 6,000

    हनुमाननगर 40 10 21,000

    धंतोली 12 00 5,000

    नेहरूनगर 19 00 4,000

    गांधीबाग 12 00 8,000

    सतरंजीपुरा 20 15 7,000

    लकड़गंज 29 30 10,000

    आसीनगर 25 00 29,000

    मंगलवारी13002,000