FIR Logo
FILE- PHOTO

Loading

नागपुर. बोगस दस्तावेजों के आधार पर प्लॉट की खरीदी-बिक्री करने के मामले में हुड़केश्वर पुलिस ने गृहनिर्माण संस्था के अध्यक्ष सहित 2 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. आरोपियों में सुशीला कोऑपरेटिव हाउसिंग सोसायटी के अध्यक्ष सोमवारीपेठ निवासी राजेश श्यामसुंदर जायसवाल और सुनील महादेवराव बोरकर का समावेश हैं. पुलिस ने श्री कोलानी, हुड़केश्वर निवासी अनिल केशवराव वसूले (60) की शिकायत पर मामला दर्ज किया है.

अनिल ने वर्ष 1994 में सुशीला सोसायटी के अध्यक्ष जायसवाल से मौजा चिखली के सिद्धेश्वरीनगर में 1,500 वर्ग फुट का प्लॉट खरीदा था. वहां एक कमरा भी बनवाया था. बीच-बीच में जाकर प्लॉट की जांच करते थे. बीते वर्ष अगस्त महीने में अनिल अपने प्लॉट पर गए तो वहां सुनील बोरकर की मालकी का प्लॉट होने का फलक दिखाई दिया. उन्होंने सुनील से संपर्क किया तो नरेंद्र चौधरी और अनिता झाड़े नामक महिला से खरीदी करने की जानकारी दी.

अनिल ने सुशीला सोसायटी के कार्यालय में जाकर जायसवाल से संपर्क किया. जायसवाल ने गलती से उनके प्लॉट की बिक्री होने की जानकारी दी और विश्वास दिलाया कि बोरकर के साथ हुई रजिस्ट्री रद्द करवा दी जाएगी. इसके बाद लगातार अनिल चक्कर काटते रहे लेकिन सेल डीड रद्द नहीं की गई. जांच में बोगस दस्तावेजों के आधार पर जमीन बिक्री करने का पता चला. अनिल ने प्रकरण की शिकायत हुड़केश्वर पुलिस से की. पुलिस ने विविध धाराओं के तहत धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच आरंभ की है.