Indian railway

  • 200 मेल-एक्सप्रेस में लगेगी LHB कोच

नागपुर. कोरोना महामारी के कारण भले ही 2020 में रेलवे को भारी नुकसान पहुंचा है. वहीं, रेल यात्रियों से कई रियायतें और सुविधाएं भी छिन गई है. हालांकि, वर्ष 2021 में यात्रियों को बड़ी सहुलियत मिलने जा रही है. अगले वर्ष रेलवे द्वारा करीब 200 मेल और एक्सप्रेस की रैक आईसीएफ कोच से नए लिंक हॉफमैन बुश (एलएचबी)कोच में बदल दिया जाएगा. इससे कुल 25,000 बर्थ बढ़ जाएगी. इससे यात्रियों के लिए कन्फर्म सीटों के लिए विकल्प भी बढ़ जाएंगे.

लंबाई भी अधिक

योजना के अनुसार, दिसंबर 2021 तक देशभर के 68 रेल मंडलों की 200 से अधिक ट्रेनों में उक्त कोच लगा दिए जाएंगे. यह ट्रेनें अभी पुरानी डिजाइन के कोच के साथ चल रही हैं. इनमें कोच की लंबाई 23 मीटर होती है. 24 कोच वाली एक ट्रेन में औसतन 1,160 बर्थ होती हैं. अब यात्री ट्रेनों में इनकी जगह आधुनिक तकनीक व सुविधा वाले नए कोच लगाए जा रहे हैं. इन एलएचबी का निर्माण तकनीकी सहयोग से कपूरथला, रायबरेली, चेन्‍नई स्थित कोच फैक्ट्रियों में किया जा रहा है. यह कोच 24 मीटर लंबे हैं, इनमें 4 से 8 बर्थ अधिक हो सकती हैं. 22 कोच वाली एक ट्रेन में औसतन 128 बर्थ बढ़ जाएंगी.

एलएचबी की खासियतें

  • 200 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से दौड़ने में सक्षम, इनमें आवाज भी कम आती है.
  • डिस्क ब्रेक होने से इमरजेंसी ब्रेकिंग में कोचेस एक-दूसरे पर नहीं चढ़ती.
  • बाहरी दीवारें अधिक मजबूत होती हैं.
  • अंदरूनी हिस्से स्‍क्रू रहित.
  • दुर्घटना की स्थिति में यात्रियों को कम चोट आने की संभावना.
  • इनमें सेंटर बफर कप्लर लगे हैं. इससे दुर्घटना के समय कोच एक-दूसरे पर नहीं चढ़ते.
  • जनहानि की आशंका कम.