fadnavis-nawab-chavan
नवाब-अजित पवार-पृथ्वीराज चव्हाण

Loading

नई दिल्ली/नागपुर: जहां एक तरफ NCP(अजित पवार गुट) के ख़ास और ताज-ताजा जेल से जमानत पर छूटे विधायक नवाब मलिक (Nawab Malik) के कथित तौर पर वापस NCP में शामिल होने को लेकर बीते शुक्रवार को भी घमासान होता। वहीं इस मामले में अब कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण (Prithviraj Chavan) ने ‘जातिवाद और ध्रुवीकरण’ का नया पत्ता खोलते हुए BJP नेता और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को घेरने की कोशिश की है। 

‘जातिवाद और ध्रुवीकरण’ का आरोप 

दरअसल अब फड़णवीस के अजीत पवार को लिखे पत्र पर महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने तंज कसा है कि, क्या यह पूरा मामला  नवाब मलिक के धर्म के कारण हो रहा है। उपमुख्यमंत्री द्वारा इस प्रकार का पत्र लिखना और उसे फिर मीडिया के सामने पेश करना दरअसल जनता का ध्रुवीकरण करने की साज़िश है। यह बहुत ही शर्मनाक है। अब देश की जनता साफ़ देख रही है, कि आप देश को ‘जातिवाद’ पर बांटना चाहते हैं, उसका ध्रुवीकरण करना चाहते हैं।” 

क्या है पूरा मामला 

गौरतलब है की BJP नेता और राज्य के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने अजित पवार को सख्त शब्दों में पत्र लिखा था और इसमें मलिक को महायुति में शामिल करने से साफ़ इनकार कर दिया था। उक्त पत्र वायरल होने के बाद अब जहां महायुति में मतभेद की चर्चा जोरों पर चल रही है, वहीं इस ख़ास मौके पर राज्य के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने फडणवीस का साथ देने का फैसला किया है। जिससे अब इस महायुति में अजित पवार अकेले खड़े दिख रहे हैं। 

संजय राउत का तंज 

उधर फडणवीस के इस पत्र से अजीत गुट के नेता काफी नाराज दिख रहे हैं। अब टी इस महायुति में जारी कलह के बाद उद्धव ठाकरे गुट भी पहले ही निशाना साध चुकी है। दरअसल पार्टी प्रवक्ता संजय राउत ने इस बाबत तंजा कसते हुए कहा था कि हसन मुश्रीफ, प्रफुल्ल पटेल, सिंचाई घोटाला फेम अजित पवार, ईडी फेम भावना गवली, सरनाईक, कौनसे दूध के धुले हैं। लेकिन अब केवल मलिक पर हमला किया जा रहा है। बाकी सभी जैसे पुरे साफ़ सुथरे है। 

BJP का ‘U टर्न’ 

हालाँकि अब BJP के चंद्रशेखर बावनकुले के अनुसार DCM फडणवीस ने कहा है कि, अगर मलिक आरोपों से बरी हो जाते हैं, तो उन्हें महायुति में शामिल करने में कोई भी समस्या नहीं है। फिलहाल राज्य और शीतकालीन सत्र में नवाब मलिक के मामले पर गर्मी और भी बढ़ने का अनुमान है।