crime

    नागपुर. लकड़गंज थानांतर्गत चिंतेश्वर परिसर में हुई 21 लाख की लूट की वारदात से हवाला कारोबारियों में हड़कंप मच गया है. शहर के हवाला कारोबारी अंडरग्राउंड हो गए है. प्रकरण की जांच में जुटी लकड़गंज पुलिस ने इस प्रकरण में 2 और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. जिसमें से एक कमलेश शाह की कूरियर कंपनी में सुरक्षा रक्षक का काम करने वाला रूपलाल लिल्हारे है और दूसरा तांडापेठ निवासी उमेश सोनकुसरे है.

    बताया जाता है कि लिल्हारे ने ही आरोपियों को लूट की टिप दी थी. पुलिस ने शनिवार रात इस प्रकरण में तांडापेठ निवासी व्यंकटेश उर्फ गोलू पोहाड़ (22) को गिरफ्तार किया था. लूट की पूरी प्लानिंग करने वाला मुख्य आरोपी विवेक बारापात्रे अब भी गिरफ्त से बाहर है.

    शनिवार की शाम कंपनी में काम करने वाले रमन पटेल दुपहिया वाहन की डिक्की में 21 लाख रुपये रखकर कंपनी के मैनेजर रोहित पटेल के छापरूनगर स्थित निवास स्थान पर जा रहे थे. इसी समय 3 आरोपियों ने चाकू की नोक पर गाड़ी सहित रकम लूट ली. शुरुआत से ही पुलिस को इस मामले में किसी करीबी व्यक्ति द्वारा टिप दिये जाने का संदेह था.

    सुरक्षा रक्षक रूपलाल लिल्हारे भी तांडापेठ परिसर में रहता है और तीनों आरोपी भी इसी इलाके के रहने वाले है. ऐसे में पुलिस ने रूपलाल को हिरासत में लेकर पूछताछ की. उसने बताया कि कुछ दिन पहले चर्चा के दौरान उसने विवेक को बताया था कि कंपनी से रोजाना मोटी रकम मैनेजर के घर ले जाई जाती है.

    विवेक ने उमेश और गोलू की मदद से लूट की योजना बनाई. पहले 2 दिन रेकी की गई और शनिवार को लूट को अंजाम दिया गया. बताया जाता है कि लूट की रकम विवेक के पास है लेकिन वह गिरफ्त से बाहर है. पुलिस लगातार उसकी तलाश में जुटी है.