प्रतिकारात्मक  तस्वीर 
प्रतिकारात्मक  तस्वीर 

    •  4.71 लाख रुपये का सोना किया था चोरी,
    • 4.50 लाख का माल बरामद

    नागपुर. हुड़केश्वर पुलिस ने अपने थाना क्षेत्र में 4.71 लाख रुपये के सोने के गहनों की चोरी के मामले में घर मालिक की दूकान में काम करने वाले चोर को दबोच लिया. उसकी निशानदेही पर पुलिस ने 4.50 लाख रुपये का माल बरामद भी कर लिया. आरोपी का नाम विश्वकर्मानगर, चंद्रपुर निवासी मयूर साहूजी दुरुडकर (30) बताया गया.

    2 दिन पहले गीतानगर, बेसा निवासी मोनाली सूरज शिरभाते अपने परिवार के साथ पूर्वाह्न 11.45 बजे अपनी ननद की शादी में शामिल होने गई थी. शाम करीब 6.45 बजे लौटने पर उनकी अलमारी से 157 ग्र्राम सोने के आभूषण गायब थे. इनकी कुल कीमत 4.71 लाख रुपये बताई गई.

    दूकान में ढाई वर्ष से कर रहा था काम

    मोनाली के पति हार्डवेयर की दूकान चलाते हैं. मयूर पिछले ढाई वर्षों से उनके यहां नौकरी करता था. उसकी पत्नी मोनाली के यहां घरेलू कामकाज करती थी. पुराना नौकर होने से मोनाली और उनके पति का दोनों पर विश्वास था. पुलिस जांच में मयूर का पुराना क्रिमिनल रिकॉर्ड सामने आया. उस पर चंद्रपुर में चोरी के कई मामले दर्ज हैं. 

    चाबी से खोली थी अलमारी

    जांच में पता चला कि आरोपी ने अलमारी खोलने के लिए किसी प्रकार की तोड़फोड़ नहीं की थी बल्कि चाबी से खोला था. तब ही पुलिस को शक था कि चोरी घर के किसी व्यक्ति ने की. परिवार के सभी लोगों से पूछताछ में पुलिस को कुछ नहीं मिला. ऐसे में शक की सुई घर के नौकरों पर घूमी. पुलिस ने मयूर और उसकी पत्नी के अलावा अन्य नौकरों के बयान दर्ज करना शुरू किया. इस दौरान मयूर की हरकतें संदिग्ध लगीं. हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने सारा सच उगल दिया. 

    घर के पास ही दबाया था माल

    चोरी की कबूली देने के बाद बताया कि उसने गहनों को घर से ही कुछ दूरी पर जमीन में गाड़ दिया था. वह सही मौके की तलाश में था. पुलिस जांच ठंडी पड़ते ही वह सारा माल निकालकर बेचने की प्लानिंग में था लेकिन इससे पहले ही पुलिस के हत्थे चढ़ गया. पुलिस ने उसकी बताई जगह से 4.50 लाख रुपये के गहने बरामद कर लिये. यह कार्रवाई जोन 4 के पुलिस उपायुक्त नुरूल हसन, एसीपी गणेश बीरादार के मार्गदर्शन में सीनियर पीआई सार्थक नेहेते, एपीआई स्वप्निल भुजबल, मनोज नेवारे, संतोष सोनटक्के, चंद्रशेखर कौरती, सुमित चौधरी आदि द्वारा 18 घंटे में पूरी की गई.