Nitin raut
File Photo

  • ‘नवभारत’ से कहा, सर्वसम्मति से लिया गया निर्णय
  • व्यापारियों के प्रयासों को मिली सफलता

नागपुर. राज्य के ऊर्जा मंत्री एवं जिला पालक मंत्री नितिन राऊत ने ‘नवभारत’ से बातचीत में कहा कि लॉकडाउन लगाने की जो घोषणा पूर्व में की गई थी उसे वर्तमान में स्थगित कर दिया गया है. तब की परिस्थिति अलग थी इसलिए घोषणा करना पड़ा था लेकिन अब स्थिति में काफी सुधार हो चुका है. अत: लॉकडाउन लगाने की जरूरत महसूस नहीं की गई है. उन्होंने कहा कि सभी स्टेकहोल्डर से बातचीत करने के बाद सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया है. 

राऊत ने कहा कि इसके पूर्व कोरोना केस बढ़ने के संकेत मिल रहे थे जिसके कारण प्रशासन को मजबूरी में निर्णय लेना पड़ा था और मुझे घोषणा करनी पड़ी थी. लेकिन अभी स्थिति नियंत्रण में है. उन्होंने लोगों से संयम बरतने की अपील भी की और कहा कि त्योहार का आनंद उठाना चाहिए, न कि एक दूसरे को संकट में डालने जैसे कदम उठाने चाहिए. इसके लिए बाजार में नियमों का पालन सभी को करना चाहिए. प्रशासन भी चुस्ती दिखाएगा और जहां कहीं जरूरत होगी, सख्ती से काम लेगा.

सुबह मनपा आयुक्त ने दिलाया था भरोसा

मनपा आयुक्त राधाकृष्ण बी. ने भी व्यापारियों को से कहा है कि त्योहार के दौरान जो लॉकडाउन लगाने का विचार किया गया था उसे स्थगित कर दिया गया है. यह दावा ‘सरकार जगाओ, वाणिज्य बचाओ’ संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने किया है. आयुक्त ने कहा है कि त्योहार के दौरान कोई गैर फायदा न उठाए इसके लिए सख्ती जारी रहेगी. पालक मंत्री और मनपा आयुक्त की घोषणाओं का व्यापारियों ने एक स्वर में स्वागत किया और बाजार में भी हर्ष का माहौल व्याप्त हो गया. 

व्यापारिक संगठन पिछले कुछ दिनों से नेता और प्रशासनिक अधिकारियों से निरंतर मिल रहे थे और त्योहार के दौरान लॉकडाउन लगाकर व्यापार को चौपट नहीं करने का आग्रह कर रहे थे. उनके प्रयासों को गुरुवार को सफलता मिल ही गई. गुरुवार को ‘सरकार जगाओ, वाणिज्य बचाओ’ संषर्घ समिति का दल मनपा आयुक्त से मिला. आयुक्त ने कहा कि केरल में त्योहार के दौरान काफी तेजी से कोरोना में वृद्धि देखने को मिली थी इस कारण नागपुर में भी प्रतिबंध लगाने का विचार किया गया था. पालक मंत्री ने इस ओर इशारा भी किया था. लेकिन व्यापक विचार-विमर्श के बाद यह तय किया गया है कि अभी परिस्थिति ठीक है और प्रतिबंध बढ़ाने की जरूरत नहीं है. जब पालक मंत्री ने घोषणा की थी तब स्थिति चिंताजनक लग रही थी. 

संयोजक दीपेन अग्रवाल, मिक्की अरोरा, दिलीप कामदार ने कहा कि राधाकृष्ण बी. ने व्यापारियों से स्पष्ट रूप से कहा है कि त्योहार के दौरान सख्ती की जाएगी और कहीं पर भी कोरोना नियमों का पालन नहीं होगा तो कार्रवाई होगी. व्यापारी और जनता को बहुत ही सतर्कता के साथ व्यवहार करना होगा ताकि वे खुद भी सुरक्षित रहें और शहर को भी सुरक्षित रख सकें. भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से लोग बचें. त्योहार के लिए खुद की जान को जोखिम में न डालें. गणेश मंडल संचालकों को भी कहा गया है कि एसओपी का पालन करें और किसी को भी बिना मास्क प्रवेश न दें. सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन हो. 

टेस्ट, ट्रेक, ट्रीट, टीकाकरण पर ध्यान जरूरी

कोरोना वायरस को रोकने के लिए टेस्ट, ट्रैक, ट्रीट, टीकाकरण और कोविड उपयुक्त व्यवहार को अत्यावश्यक बताया है. जिले में प्रवेश के स्थानों पर आव्रजन विभाग द्वारा अपनाए गए निगरानी मानकों की तर्ज पर राज्य और स्थानीय प्रशासन को आवश्यक कार्रवाई करनी चाहिए.