Gadkari

    नागपुर. केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने विश्वास व्यक्त किया कि शहर अगले 5 वर्षों में सभी प्रकार के प्रदूषण को कम करने के लिए अंतरराष्ट्रीय मानकों को पूरा करने में सक्षम होगा, साथ ही यह देश का सबसे सुंदर और हरा-भरा शहर होगा. शहर में जल, वायु और ध्वनि प्रदूषण को कम करने के लिए पर्यावरण के अनुकूल ईंधन सीएनजी, एलएनजी, इथेनॉल पंप खोले जा रहे हैं और एक इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन स्थापित किया जा रहा है.

    उन्होंने नागरिकों से ‘ग्रीन नागपुर’ बनाने की पहल करने की भी अपील की. वह मिहान में भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में ग्रीन अर्थ संगठन द्वारा आयोजित महावृक्ष वृक्षारोपण कार्यक्रम के उद्घाटन के अवसर पर बोल रहे थे. एम्स नागपुर की निदेशक विभा दत्ता, महापौर मेयर दयाशंकर तिवारी, सांसद डॉ. विकास महात्मे, विधायक नागो गणर, परिणय फुके, ग्रीन अर्थ आर्गेनाईजेशन प्रा. अनिल सोले मुख्य अतिथि थे.

    ग्रीन बस, सीएनजी की हुई शुरुआत

    गडकरी ने कहा कि हमने पहली बार अपशिष्ट जल शोधन प्रबंधन, ग्रीन बस, सीएनजी, एलएनजी जैसी विभिन्न परियोजनाओं को लागू कर नागपुर को एक ‘ईको-फ्रेंडली’ शहर बनाया है. ग्रीन अर्थ आर्गेनाईजेशन ने इस साल पूर्वी विदर्भ में 50,000 पौधे लगाने और इनके संवर्धन का काम हाथ में लिया है.

    उन्होंने कहा कि अब परिवहन क्षेत्र पर ध्यान दिया जाना चाहिए. वाहनों के हॉर्न की आवाज को नियंत्रित करने का प्रयास किया जाना चाहिए ताकि ध्वनि प्रदूषण कम हो सके. कार्यक्रम में एम्स के छात्रों, शिक्षण कर्मचारियों, ग्रीन अर्थ इंस्टीट्यूट, रोटरी क्लब के अधिकारियों के साथ-साथ नागरिक भी शामिल हुए.