File Pic
File Pic

  • वारदात से पहले ही पुलिस ने किया भंडाफोड़
  • महिला समेत 4 अरेस्ट, मुख्य आरोपी फरार

नागपुर. शहर पुलिस की क्राइम ब्रांच ने फ्लैट पर कब्जा जमाये महिला की सुपारी देकर हत्या की तैयारी का भंडाफोड़ किया. आरोपी हथियारों समेत पूरी तरह प्लानिंग कर चुके थे. पुलिस ने एक महिला समेत 4 को अरेस्ट किया. पूरे मामले में फ्लैट के मालिक की भूमिका संदिग्ध बताई जा रही है. जिसका नाम तुमसर निवासी गणेश बर्वे बताया गया. गिरफ्तार आरोपियों के नाम हनुमाननगर, तुमसर निवासी भूपेन्द्र मोहन गिल्लोरकर (32), नंदनवन निवासी राहुल संतोष हलमारे (36), सोमवारी क्वाटर्र निवासी राजेश उर्फ राजा सुरेश गुंड (35) और उसकी पत्नी पूजा (25) बताई गई है. जबकि काचीमेट, वाड़ी निवासी दर्शनी उर्फ खुशी अनिल ढकान (35) की हत्या की जानी थी. मामला वाड़ी थाने में दर्ज किया गया है.

4 लाख में तय हुआ था सौदा

प्राप्त जानकारी के अनुसार खुशी जिस फ्लैट में रहती है, वह हाल ही में गणेश ने खरीदा था. खुशी काफी समय से यहां रह रही है. कई बार बोलने के बाद भी वह फ्लैट खाली करने का तैयार नहीं थी. ऐसे में उसकी हत्या की प्लानिंग की गई. सूत्रों के अनुसार गिरफ्तार आरोपियों ने पुलिस को बताया कि गणेश ने खुशी को मारने के लिए 4 लाख रुपये की सुपारी देने की तैयारी की थी. इन 4 लाख रुपये के लिए हत्या की बात पहले भुपेन्द्र, फिर राजा और उसकी पत्नी पूजा तक पहुंची थी. तैयारी इतनी पुख्ता थी कि आरोपियों ने खुशी के घर से 100 मीटर दूरी पर लोहे की रॉड तक छुपा दी थी कि अकेले मिलते ही खुशी की इससे हत्या कर दी जाये.

पहले भूपेन्द्र चढ़ा हत्थे

उधर, खबरियों ने करीब 3 दिन पहले ही क्राइम ब्रांच को तक यह बात पहुंचा दी. तब से आरोपियों पर नजर रखनी शुरू कर दी और उनके मोबाइल नंबर भी ट्रेसिंग पर रख दिये. हत्या की प्लानिंग की जानकारी पुख्ता होते ही क्राइम ब्रांच ने सबसे पहले राजेश गुंड को पकड़ा गया. पूछताछ में राजेश ने राहुल का नाम लिया और कहा कि वह खुशी की हत्या के लिए 4 लाख रुपये मिलेंगे. राहुल को हिरासत में लेने पर उसने भूपेन्द्र का नाम लेते हुए जानकारी दी कि गणेश खुशी की हत्या करवाकर अपना फ्लैट खाली कराना चाहता था. इसके लिए वह 4 लाख रुपये देने का तैयार था. भूपेन्द्र ने कहा कि वह एक व्यक्ति को जानता है तो सुपारी लेकर हत्या कर सकता है. फिर बात राहुल और राजेश तक पहुंची. वहीं, राजेश की पत्नी पूजा को भी इस बारे में सब कुछ पता था, इसलिए पुलिस ने उसे भी आरोपी बनाया है. 

गणेश को ढूंढ रही पुलिस

सूत्रों की मानें तो गिरफ्तार आरोपियों ने गणेश को मुख्य सूत्रधार बताया है. वह तुमसर में पेशे से पत्रकार है और पुलिस उसकी तलाश कर रही है. उक्त कार्रवाई शहर पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार, अपर पुलिस आयुक्त सुनील फुलारी, डीसीपी चिन्मय पंडित के मार्गदर्शन में पीआई सुनील चव्हाण, एपीआई सुनीत परतेकी, एपीआई अनिल मेश्राम, एएसआई मुक्तिराम चेवले, वंसता चौरे, रफीक कुरसुंगे, सुशील श्रीवास, शरद चांभारे, हेमंत लोणारे, सुनीत गुजर, सुशांत नंदेश्वर, सुशांत सोलंके, योगेश सेलुकर, दिगांबर दहातोंडे आदि द्वारा पूरी की गई.