File Photo
File Photo

    नागपुर. कुछ दिन पहले टिप्पर की टक्कर से मां ने उसके हाथों में दम तोड़ दिया. तब से वह डिप्रेशन में था. मां के बिना उसे अपना जीवन व्यर्थ लग रहा था. ऐसे में रविवार सुबह वह जान देने के लिए फुटाला तालाब पहुंच गया और पानी में कूद भी गया. लेकिन वहां मौजूद तैराकों और अंबाझरी पुलिस की मदद से उसे पानी से सकुशल बाहर निकाल लिया गया. मौके पर पहुंचे सीनियर पीआई अशोक बागुल ने युवक को समझाया और डिप्रेशन से बाहर आने के लिए हिम्मत बंधाई. यह युवक मिलिंदनगर, पांचपावली निवासी हर्ष राजेश मेंढे (२०) बताया गया.

    पुलिस कर रही थी पंचनामा

    घटना रविवार सुबह करीब 8.50 बजे की है. यह हर्ष की किस्मत ही थी कि तब अंबाझरी पुलिस तालाब में मिली अज्ञात व्यक्ति की लाश का पंचनामा कर रही थी. इस समय सिपाही प्रशांत गायधने मौके पर ही थे और इसी समय हर्ष ने तालाब में छलांग लगा दी. जोर से आवाज आने के कारण पुलिसकर्मियों का ध्यान हर्ष की ओर गया जो पानी में हाथ-पैर मार रहा था. तुरंत ही प्रशांत गायधने और वहां टहल रहे चंद्रमणिनगर निवासी देवीदास जांभुलकर ने भी पानी में छलांग लगाई. उन्होंने हर्ष को सकुशल बाहर निकाला. प्रशांत ने उसके मुंह और पेट से पानी निकाला. कुछ देर में वह संभल गया. जानकारी मिलते ही पीआई बागुल भी पहुंचे. उन्होंने हर्ष को विश्वास में लेकर इस जानलेवा प्रयास का कारण पूछा. बागुल ने हर्ष को समझाया कि जीवन के उतार-चढ़ावों में जान नहीं दी जाती, परिस्थितियों से लड़ा जाता है. 

    हादसे ने मन पर डाला गहरा सदमा 

    हर्ष ने बताया कि उसके पिता ड्राइवर हैं. वह 10वीं तक ही पढ़ा है और उसकी बहन पुणे में पढ़ रही है. 4 नवंबर को वह अपने माता-पिता के साथ वाहन से कारंजा लाड जा रहा था. रास्ते में उसकी माता लघुशंका के लिए रुकी और इसी दौरान एक तेज रफ्तार टिप्पर उन्हें रौंदता हुआ निकल गया. उनकी मौके पर ही मौत हो गई. इस हादसे ने हर्ष के मन पर गहरा सदमा छोड़ा. तब से उसके मन में जीने की इच्छा खत्म हो गई थी. इसलिए उसने आत्महत्या का प्रयास किया.