Tiger Foundation received donations and provided assistance to guides, drivers etc.
File Pic

    नागपुर. कोरोना का संक्रमण जिस तरह कम हो रहा है उसे देखते हुए अब लोग पर्यटन के भी अनलॉक होने का इंतजार कर रहे हैं. अभी राज्य के एक भी गेट नहीं खोले गए हैं जिससे यहां के पर्यटकों को अभी भी निराशा है. पर्यटकों का कहना है कि जब जिले में कोरोना की स्थिति सामान्य है और मध्य प्रदेश के सभी गेट सफारी के लिए खोले जा चुके हैं तो ऐसे में महाराष्ट्र में भी गेट खोलने की जरूरत है. अभी पेंच नेशनल पार्क को ओपन किया गया है. यह मध्य प्रदेश के गेट खोले गए हैं.

    पेंच को कोर एरिया को आम पर्यटकों के लिए खोला गया था. वहीं अब पेंच टाइगर रिजर्व का बफर जोन 1 जुलाई से खुला है. इसके अलावा नागलवाड़ी बफर जोन, पवनी बफर जोन और कारहांडला गेट 1 जुलाई से खुले हुए हैं. पर्यटक सख्त नियमों के साथ इन जंगल सफारी में प्रवेश कर सकेंगे. सफारी के दौरान वन विभाग ने पर्यटकों के लिए काफी नियम भी बनाए हैं जिससे उनकी सुरक्षा के साथ अन्य लोगों को भी कोरोना से बचाने में मदद मिलेगी.

    खवासा की ओर से जा रहे पर्यटक

    एनटीसीए और सीडब्ल्यूएलडब्ल्यू महाराष्ट्र ने डीडीएमए के पेंच टाइगर रिजर्व समेत अन्य जंगल सफारी को खोलने के लिए आदेश जारी किया है लेकिन 1 जुलाई के बाद होने वाली इस सफारी पर बारिश का साया मंडरा रहा है.  हालांकि राज्य का एक भी गेट नहीं खोला गया है इसलिए सफारी करने के शौकीन मप्र के खवासा गेट की ओर का रुख कर रहे हैं. आदेश में यह भी कहा गया है कि अगर बारिश ज्यादा होती है और रास्ते खराब होते हैं तो इसे बंद कर दिया जाएगा. फिलहाल पर्यटकों को अब आसानी से सफारी का आनंद मिल सकेगा.

    खवासा में बस एक गेट से सफारी

    खवासा से कोहका ग्राम की ओर जाने वाले गेट से ही केवल सफारी हो रही है. निर्धारित रूट पर ही सफारी के लिए पर्यटकों को भेजा जा रहा है. यह 2 टाइम हो रही है. सुबह की बुकिंग 6.30 बजे से लेकर सुबह के 11.30 बजे तक उसके बाद शाम को 4 से लेकर 4.30 बजे तक सफारी हो रही है. पर्यटकों को पहले ही जानकारी दी जा रही है. 

    50% वाहनों को ही अनुमति

    जंगल सफारी के लिए बफर जोन के अंदर भी नियमों का पालन होगा. केवल 50% वाहनों को ही प्रवेश मिल रहा है. इस गाइडलाइन का सख्ती से पालन किया जा रहा है. वहीं एक जिप्सी में केवल 6 लोगों को ही प्रवेश दिया जा रहा है. 

    बोर टाइगर रिजर्व को खोलने की मांग

    वहीं बोर टाइगर रिजर्व को खोलने की मांग पर्यटकों द्वारा की जा रही है. अभी फिलहाल बोर टाइगर रिजर्व बंद रहेगा. बारिश के कारण बोर टाइगर रिजर्व के रोड पूरे डैमेज हो गए हैं. जहां सफारी करना फिलहाल संभव नहीं है. इसे देखते हुए वन विभाग ने फिलहाल बोर टाइगर रिजर्व को बंद रखने ही फैसला किया है. रोड को ठीक करने के बाद इसे खोलने का आदेश बाद में जारी किया जाएगा. अभी यहां मेंटेनेंस का काम चल रहा है.