Nashik Municipal Corporation
File Photo

    नाशिक: नाशिक महानगरपालिका चुनाव (Nashik Municipal Elections ) के लिए कच्चा प्रभाग रचना का प्रस्ताव अंतिम चरण में है। नई प्रभाग रचना के अनुसार महानगरपालिका (Municipal Corporation) में 11 सीटें बढ़ जाएंगी। राज्य चुनाव आयोग (State Election Commission) को यह प्रस्ताव 29 नवंबर को सौंपा जाएगा। त्रिसदस्यीय प्रभाग रचना के तहत 3 सदस्यों का 43 तो 4 सदस्यों का 1, ऐसे कुल 44 प्रभाग तैयार किए जाएंगे। फरवरी 2022 में नाशिक सहित राज्य की 22 महानगरपालिकाओं के आम चुनाव होने वाले हैं। इसके लिए कच्ची प्रभाग रचना तैयार करने का काम चल रहा है। 

    दिसंबर 2019 में महाविकास आघाड़ी सरकार ने 1 सदस्यीय प्रभाग रचना का कानून बनाया था, जिसे परंतु राज्य मंत्रिमंडल ने बदलते हुए 3 सदस्यीय प्रभाग रचना निश्चित की है। इस प्रभाग रचना को राज्यपाल के हरी झंडी दिखाने के बाद महानगरपालिका के चुनाव विभाग ने कच्ची प्रभाग रचना नए सिरे से बनाते हुए 122 नगरसेवकों की संख्या के तहत 3 सदस्यों के 40 तो 2 सदस्यों के 1, ऐसे कुल 41 प्रभाग निश्चित किए हैं। परंतु राज्य मंत्रिमंडल ने एकाएक 2021 की अधिक आबादी को ध्यान में रखते हुए सदस्यों की संख्या बढ़ा दी है। 

    कच्चा प्रस्ताव राज्य चुनाव आयोग को पेश किया जाएगा

    इसके चलते नाशिक महानगरपालिका में नगरसेवकों की संख्या 11 बढ़ गई है। बढ़ी हुई 11 सीटों की संख्या के तहत प्रस्ताव तैयार करने की सूचना दी गई है। राज्य चुनाव आयोग ने 30 नवंबर तक प्रभाग रचना का कच्चा प्रस्ताव पेश करने का निर्देश दिया है। प्रगणक गट, प्रभाग दिखाने वाले केएमएल फाइल, सभी प्रभाग, जिसमें शामिल प्रगणक गट, आबादी का विवरण होने वाला पेन ड्राइव सील कर विशेष दूत के माध्यम से भेजने के आदेश दिए गए हैं। इसके तहत 29 नवंबर को प्रभाग रचना का कच्चा प्रस्ताव राज्य चुनाव आयोग को पेश किया जाएगा। यह जानकारी महानगरपालिका कमिश्नर कैलास जाधव ने दी।

    चल रहा नियमित कामकाज 

    त्रिसदस्यीय प्रभाग रचना और नगरसेवकों की संख्या बढ़ने के खिलाफ उच्च न्यायालय में याचिका दाखिल की गई है। राज्य चुनाव आयोग सहित राज्य सरकार का पक्ष रखने की सूचना दी गई है। याचिका दाखिल हुई है, लेकिन न्यायालय ने प्रभाग रचना के बारे में कोई भी आदेश नहीं दिए हैं। इसलिए प्रभाग रचना का कामकाज नियमित रूप से चल रहा है।

    अनुसूचित जाति-जमाति की सीट बढ़ेगी 

    2011 की जनगणना के तहत शहर की आबादी 14 लाख 86 हजार 53 है। इसमें अनुसूचित जाति की आबादी 2 लाख 14 हजार 120, अनुसूचित जमाति की आबादी 1 लाख 7 हजार 456 है। बढ़ने वाली 11 सीटों की तुलना करें तो अनुसूचित जाति व जमाति संवर्ग की 1-1 सीट बढ़ने की संभावना है। नगरसेवकों की संख्या बढ़ने से साधारण 32 हजार आबादी का 1 प्रभाग हो सकता है।